.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

सोशल डिस्टेसिंग का पालन कर शुचितापूर्ण ढंग से हो बोर्ड परीक्षा का मूल्यांकन कार्य -जिलाधिकारी

उत्तर पुस्तकों की जांच 05 मई से प्रारम्भ कर दिनांक 25 मई के बीच सम्पन्न कराये जाने के निर्देश

जिले में हैं 04 मूल्यांकन केंद्र,पूर्णतया सैनिटाइज़ करके ही शुरू होगा कार्य 

आजमगढ़ 03 मई-- जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने बताया कि बताया कि वर्ष 2020 की माध्यमिक शिक्षा की परिषदीय परीक्षाओं की उत्तर पुस्तकों के मूल्यांकन कार्य को शुचितापूर्ण ढंग से पुनः दिनांक 05 मई, 2020 से प्रारम्भ कर दिनांक 25 मई, 2020 के बीच सम्पन्न कराये जाने के निर्देश है। जनपद आजमगढ़ में चार मूल्यांकन केन्द्र क्रमशः राजकीय बालिका इण्टर कालेज, आजमगढ़, शिब्ली नेशनल इण्टर कालेज, आजमगढ़, डी0,0वी0 इण्टर कालेज, आजमगढ़ ,वं इण्टरमीडिएट कालेज, सठियांव, आजमगढ़ पूर्व से निर्धारित है।
उन्होने बताया कि परिषदीय परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं के पुनः मूल्यांकन शुरू करने के समय शर्तों/एहतियात बरते जाने है, जिसमें कोरोना वायरस (कोविड-19) के दृष्टिगत लागू लाॅकडाउन में आवागमन में प्रतिबन्धों के कारण मूल्यांकन कार्य हेतु नियुक्त किये गये समस्त परीक्षकों को उनके मूल्यांकन नियुक्ति-पत्र एवं शिक्षणेत्तर कर्मियों को मूल्यांकन केन्द्रों के उपनियंत्रकों द्वारा प्रदत्त पहचान-पत्र के आधार पर मूल्यांकन कार्य हेतु आने-जाने के लिये जिला विद्यालय निरीक्षक, आजमगढ़ द्वारा पास निर्गत किया जायेगा।
उन्होने बताया कि मूल्यांकन की ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाये जिससे कि सोशल डिस्टेसिंग के दृष्टिगत प्रत्येक परीक्षक के मध्य कम से कम दो मीटर का अन्तर अवश्य रहें। मूल्यांकन केन्द्रों के उपनियंत्रकों का यह व्यक्तिगत उत्तरदायित्व होगा कि उनके केन्द्र में यदि और स्थान उपलब्ध है तब उस स्थिति में उन स्थानों/कक्षों का भी उपयोग कर मूल्यांकनकर्ता परीक्षकों और दूर-दूर बैठाकर मूल्यांकन कार्य कराया जाय अन्यथा की स्थिति में उपलब्ध स्थान के आलोक में परीक्षकों को विषयवार आमंत्रित कर मूल्यांकन कार्य कराया जाय अथवा कुल मिलाकर उतने ही परीक्षक आमंत्रित किये जाय जिससे कि सोशल डिस्टेसिंग के मानक का अनुपालन शत-प्रतिशत सुनिश्चित हो सके।
मूल्यांकन कार्याें के लिये नियुक्त किये समस्त परीक्षकों ,वं अन्य समस्त शिक्षणोत्तर कर्मियों को मास्क लगाना/है.ड-ग्लव्स पहनना ,वं अन्य सुरक्षात्मक उपायों का अनुपालन सुनिश्चित करना अनिवार्य होगा।
मूल्यांकन के दौरान यदि किसी भी परीक्षक अथवा कर्मचारी के अन्दर यदि कोराना वायरस से सम्बन्धित प्रारम्भिक लक्षण यथा सूखी खांसी के साथ बुखार ,वं सांस फूलने जैसे कोई लक्षण दिखते हैं तब से अविलम्ब मूल्यांकन कार्य से पृथक करके उसकी सूचना जिला प्रशासन ,वं जिला विद्यालय निरीक्षक को सूचना दी जाय। इसके साथ ही जिस कक्ष में वह कार्य कर रहा था उसे पूर्णतया सेनेटाइज कराने के उपरान्त तथा जिला प्रशासन से अनुमति लेने के उपरान्त ही उस कक्ष में मूल्यांकन कार्य प्रारम्भ कराया जाय। चारो मूल्यांकन केन्द्रों को प्रतिदिन सेनेटाइज करने के लि, नगर क्षेत्र के मूल्यांकन केन्द्र को अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका आजमगढ़ ,वं इ.टरमीडिएट कालेज सठियांव के लिये जिला पंचायत राज अधिकारी, आजमगढ़ को निर्देशित किया गया है। चारों मूल्यांकन केन्द्रों पर कोरोना संक्रमित संदिग्ध की पहचान हेतु थर्मल स्कैनर की व्यवस्था हेतु मुख्य चिकित्साधिकारी, आजमगढ़ को निर्देशित किया गया है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment