.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ :पर्दाफाश ! महिला ने प्रेमी और उसके रिश्तेदारों से करवा दी अपने पति की हत्या

पति की सांसें थमने तक फोन पर सुनती रही उसकी चीखें, फिर थाने में गुशुदगी दर्ज कराई 

जघन्य हत्या काण्ड में शामिल 07 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, डॉग स्कवॉड की उल्लेखनीय भूमिका रही 

सरायमीर :आजमगढ़ : अग्नि देव को साक्षी मान जिस पत्नी को ताउम्र छांव देने को अपनाया वहीं उसके खून की प्यासी बन गई। प्रेमी को पाने की चाहत में पति से इतनी नफरत कर बैठी कि फोन पर उसकी सांसें टूटने की आवाज सुनने की चाहत कर बैठी। हुआ भी ऐसा ही, युवक को मौत के घाट उतारा गया तो बेदर्द पत्नी आनलाइन चीखें सुनती रहीं। सांसें थमने को लेकर आश्वस्त हुई तो गुमशुदगी दर्ज कराने थाने जा पहुंची। लेकिन चोरी, हत्या, पाप कब छिप पाया है, यही हुआ भी। पुलिस छानबीन शुरू की तो मर्डर मिस्ट्री में शामिल रहे सात लोग बेनकाब हो गए। हत्या में प्रयुक्त चाकू, टेंपो व मोबाइल फोन आदि बरामद हो गए। बेरहम पत्नी के चरित्र की चर्चा पूरे दिन इलाके में सुíखयां बनी रहीं। एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि सरायमीर क्षेत्र के अषाढ़ा गांव निवासी मुकेश राम (35) बढ़ई थे। उनकी पत्नी कुसुम दीदारगंज के उबारसेपुर गांव निवासी कलंदर राम से प्रेम करती थी। पास-पड़ोस के लोगों ने जानकारी होने पर पंचायत कर दोनों के मिलने-जुलने पर रोक लगा दी गई थी। फरवरी माह में मुकेश के घर शादी पड़ी तो कलंदर अपनी बहन के साथ आया था।बकौल एसपी सात मई को कुसुम ने मुकेश को सब्जी लाने भेजा। रास्ते में कुसुम का प्रेमी साथियों के साथ मिलकर मुकेश को तेरही भोज में ले जाने के बहाने से टेंपो पर बैठाकर ले गया। छित्तेपुर में सभी ने साजिश के तहत शराब पी। फिर तेजपुर के मघई नदी पुल के पास पहुंच चाकू से मुकेश का गला काट दिए और शव फेंककर भाग निकले। हत्या के दौरान कलंदर ने अपना मोबाइल फोन चालू रखा था, ताकि कुसुम उसकी मौत को लेकर आश्वस्त हो जाए। दूसरे दिन मुकेश की पत्नी ने सरायमीर थाने में पति की गुमशुदगी दर्ज करायी। नौ मई को शव बरामद हुआ तो मुकेश की मां ने केस दर्ज कराया। छानबीन शुरु हुई तो ग्रामीणों ने क्लू दे दिए और गुनहगार पकड़े जा सके। एसपी ने कहा कि हत्या में शामिल मुकेश की पत्नी कुसुम, उसका प्रेमी कलंदर राम उसकी बहन शकुंतला एवं उसके दोस्त धीरेंद्र, रविद्र, वीरेंद्र, मिथिलेश पकड़ लिए गए हैं। एसपी ने कहा कि डॉग स्क्वायड दस्ते ने खुलासे में अहम भूमिका निभाई। मोबाइल काल डिटेल से भी आरोपों पर मुहर लग गई।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment