.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

शिक्षक बनेंगे ‘‘प्रवासी श्रमिक मित्र’’, काउंसेलिंग के साथ ही रोजगार से जोड़ने की डीएम की पहल

मजदूरों का मनोवैज्ञानिक, आर्थिक, सामाजिक व्यवस्थापन के लिए जनपद में व्यवस्थायें की जा रही हैं- डीएम 

आजमगढ़ 18 मई-- जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में वन स्टाफ सेन्टर (महिला कल्याण विभाग) की अधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न हुई।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने बताया कि वैश्विक महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के दृष्टिग्त लाकडाउन की स्थिति में जनपद में हजारों मजदूरों का आगमन हो रहा है। मजदूरों का मनोवैज्ञानिक, आर्थिक, सामाजिक व्यवस्थापन के लिए जनपद में व्यवस्थायें की जा रही हैं।
जिलाधिकारी ने बताया कि ग्रामों में परिवारों का आगमन हो रहा है, जिससे परिवारों पर आर्थिक बोझ भी बढ़ेगा, उन लोगों को किस प्रकार आर्थिक गतिविधियों से जोड़ा जाय तथा उनकी काउन्सिलिंग किया जाय, जिससे कि वे अवसाद में न जाने पायें, इसके लिए ग्राम स्तर पर एक शिक्षक को ‘‘प्रवासी श्रमिक मित्र’’ बनाने के निर्देश दिये गये हैं। ये प्रवासी श्रमिक मित्र गाॅव के 10 छात्र/छात्राओं का चयन करेंगे तथा उनको लेकर लोगों को कोरोना से बचाव, सोशल डिस्टेन्सिंग, मास्क पहनना आदि के लिए जागरूक करेंगे तथा उनको रोजगार से जोड़ने तथा सरकारी योजनाओं से जोड़ने के लिए कार्य करेंगे।
जिलाधिकारी ने वन स्टाफ सेन्टर के अधिकारियों को निर्देश दिये कि आप की जिम्मेदारी बढ़ जाती है कि ज्यादा परिवार अब एक साथ घर पर हैं, लेकिन महिलाओं के साथ किसी भी प्रकार का घरेलू हिंसा नही होना चाहिए तथा किसी का परिवार न टूटे, इसके लिए आपको लोगों की काउन्सिलिंग करनी होगी।
इस अवसर पर जिला प्रोबेशन अधिकारी बीएल यादव, हिना देसाई, 181 महिला हेल्प लाइन टीम के सदस्य आदि उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment