.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: अगर न सक्रिय होता कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का फार्मूला तो हो जाता सामुदायिक संक्रमण

पुनः डीएम ने बाहर से आये लोगों से भौतिक दूरी बनाये रखने की अपील की, कहा संख्या पर ना जाईये बस बाहर से लोगों के भौतिक सम्पर्क में न आएं 

कोरोना संक्रमित मृत व्यक्ति के संपर्क में आए परिजन और ऑटो चालक समेत 05 निकले पॉजिटिव

आजमगढ़: कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कोरोना महामारी में सामुदायिक संक्रमण रोकने में एक बड़ा अस्त्र हैं। इसका महत्व गुरुवार को पता चला जब 15 नए कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की सूची में जिले में पहले से ही कोरोना संक्रमित मामलों से चर्चित हुए दो गांवों में पीड़ितों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग यानी की यहाँ आने के बाद उनके सम्पर्क में आये लोगों की तलाश कर उन्हें क्वारंटीन कर उनकी संपलिंग की गयी और नतीजा भी चौकाने वाला निकला और निकला गनीमत यह रही की अधिकाँश सम्पर्क में आये लोगों को पहले ही अलग रख कर उनकी सैंपलिंग कर दी गयी थी। इसीलिए आज पुनः डीएम ने बाहर से आये लोगों से भौतिक दूरी बनाये रखने की अपील की है। उदाहरण के तौर पर आज तहसील सदर के नेतपुर गांव पुन: कोरोना से जुड़ गया। मुंबई से आए गांव में एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की मृत्यु हो गई थी। उसके संपर्क हिस्ट्री में नौ लोग आए थे, जो क्वारंटाइन थे। साथ ही उसे अस्पताल में पहुंचाने वाला ऑटो चालक व मृतक का पुत्र एवं मेडिकल कालेज का लैब टेक्निशियन और एंबुलेंस के चालक सहित चार व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। लैब टेक्निशियन पहले से ही पैसिव क्वारंटाइन था। इसी तरह कांटेक्ट ट्रेसिंग के फॉर्मूले पर ही लालगंज तहसील के मेहनाजपुर के जियापुर गांव में मुंबई से आया एक युवक पिछले दिनों पॉजिटिव मिला था, अब उसकी मां-भाभी भी पॉजिटिव हैं। इसी गांव में एक और व्यक्ति मुंबई से आया था। इसका भतीजा भी पॉजिटिव निकला है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment