.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

कमिश्नर ने मंडलीय अधिकारियों को दी जिलों की जिम्मेदारी,आजमगढ़ खुद संभालेंगी

प्रवासी मजदूरों के मेडिकल चेकअप, क्वरेण्टाइन, खाद्यान्न आदि के सम्बन्ध में निगरानी समितियों से ले रहे जानकारी

मण्डलीय अधिकारियों के माध्यम से होगा वृहद स्तर पर स्थलीय सत्यापन: मण्डलायुक्त

आज़मगढ़ 15 मई -- मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने बताया कि मण्डल के तीनों जनपदों में विभिन्न प्रदेशों से आने वाले प्रवासी मजदूरों के मेडिकल चेकअप, क्वरेण्टाइन किये जाने की स्थिति एवं उन्हें तात्कालिक प्रभाव से उपलब्ध कराये जाने वाले खाद्यान्न के सम्बन्ध में गांवों में चयनित निगरानी समितियों के माध्यम से जानकारी ली जा रही है। मण्डलायुक्त ने कहा कि जनपद आज़मगढ़ के सम्बन्ध में स्वयं उनके द्वारा तथा जनपद बलिया की जानकारी अपर आयुक्त (प्रशासन) अनिल कुमार मिश्र द्वारा ली जा रही है, जबकि जनपद मऊ के सम्बन्ध में जानकारी एकत्रित करने की जिम्मेदारी अपर आयुक्त वंशबहादुर वर्मा को सौंपी गयी है। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी ने बताया कि बताया कि शुक्रवार को उनके द्वारा आज़मगढ़ जनपद के प्रत्येक विकास खण्डों के अन्तर्गत 3-4 ग्राम पंचायतों में निगरानी समिति के सदस्यों से सम्पर्क कर प्रवासी मजदूरों के सम्बन्ध में जानकारी की गयी। इसी प्रकार अपर आयुक्तगण द्वारा भी सम्बन्धित जनपदों के सभी विकास खण्डों के अन्तर्गत कई-कई ग्राम पंचायतों के सम्बन्ध में निगरानी समितियों से सम्पर्क कर प्रवासी मजदूरों के स्वास्थ्य परीक्षण, क्वरेण्टाईन की स्थिति एवं खाद्यान्न उपलब्ध कराये जाने के साथ ही मनरेगा योजना से जोड़कर प्रवासी मज़दूरों को रोजगार उपलब्ध कराये जाने की स्थिति की जानकारी ली गयी। उन्होंने कहा कि प्रायः ग्राम प्रधानों द्वारा मजदूरों को होम क्वरेण्टाइन किया जाना बताया गया तथा यह भी अवगत कराया गया कि जिन मजदूरों के घर में पर्याप्त स्थान नहीं है ऐसे लोगों को गांव के सरकारी स्कूलों में रखा गया है, जबकि कई स्थानों पर स्कूलों में रखे जाने का विरोध भी किया गया है। श्रीमती त्रिपाठी ने यह भी बताया कि कई स्थानों पर बाहर से आये मजदूरों को खाद्यान्न भी उपलब्ध नहीं कराये जाने का प्रकरण संज्ञान में आया है। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी ने कहा कि निगरानी समितियों के माध्यम से प्राप्त फीडबैक के दौरान पाई गयी कमियों को प्वाइन्ट आउट कर सम्बन्धित जनपदीय अधिकारियों के माध्यम से उसे दूर कराया जा रहा है।
मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने कहा कि निगरानी समितियों को इस बात की भी निरन्तर हिदायत दी गयी है कि अप्रवासी मजदूरों पर निरन्तर नजर रखें िकवे किसी भी दशा में क्वरेण्टाइन अवधि में न तो बाहर घूमें और न ही किसी अन्य व्यक्ति के सम्पर्क में आयें। उन्होंने कहा कि अधिकांश निगरानी समितियों द्वारा कोराना वायरस के संक्रमण एवं फैलाव को रोकने के प्रति काफी सजगता दिखाई जा रही है तथा आम जन को सामाजिक दूरी का अनुपालन करने हेतु निरन्तर प्रेरित भी किया जा रहा है, जो सराहनीय है। मण्डलायुक्त ने कहा कि पाई गयी कमियों के आधार पर मण्डलीय अधिकारियों के माध्यम से गावों एवं नगर पंचायतों का वृहद स्थलीय सत्यापन भी शीघ्र कराया जायेगा।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment