.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमग़ढ़ : मण्डलायुक्त ने लाकडाउन में वृद्धों के प्रति दिखाई संवेदनशीलता

वृद्धाश्रम में भोजन की व्यवस्था ठीक, अन्य सुविधाओं में मिली कमियाॅं 

दो दिन के अन्दर सभी कमियों को हर हाल में दूर करें - कमिश्नर

आज़मगढ़ 9 अप्रैल -- मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने लाकडाउन के दौरान वृद्धाश्रमों में आवासित बुजुर्गों के प्रति पूरी संवेदनशीला दिखाते हुए उन्हें मिल रही सुविधाओं की जानकारी हेतु वृहस्पतिवार को मण्डलीय अधिकारियों के माध्यम से नगर के मुहल्ला आराजी बाग स्थित वृद्ध जन आवास (वृद्धाश्रम) का औचक निरीक्षण कराया। मण्डलायुक्त के निर्देश पर अपर आयुक्त (प्रशासन) अनिल कुमार मिश्र के नेतृत्व में संयुक्त निदेशक कृषि एसके सिंह, उप निदेशक समाज कल्याण सुरेश चन्द ने वृद्धाश्रम का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान समाज कल्याण विभाग द्वारा वित्त पोषित उक्त वृद्धाश्रम में भोजन की व्यवस्था तो सुदृढ़ मिली, परन्तु साफ सफाई, पेयजल, स्नान, चिकित्सा आदि व्यवस्थाओं में काफी कमियाॅं पाई गयीं। निरीक्षण के समय आश्रम में 8 बुजर्ग जिसमें 6 पुरुष एवं 2 महिलायें आवासित मिले, किन्तु आश्रम के अधीक्षक डा. सुजीत राय के अनुपस्थित रहने के कारण उक्त आश्रम में वास्तवित रूप से आवासित बुजुर्गों की सही जानकारी नहीं सकी। उपस्थित कर्मचारियों द्वारा बताया गया कि लाकडाउन के कारण कई दिनों से उनका आना संभव नहीं हो पा रहा है। अधिकारियों द्वारा आश्रम में आवासित सभी 8 लोगों से उनको मिलने वाली सुविधाओं के बारे पर जानकारी करने पर बताया गया कि भोजन व्यवस्था तो ठीक है परन्तु पीने के पानी की समुचित व्यवस्था नहीं है, जिसके कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा स्नान की भी व्यवस्था नहीं है, स्नान करने के लिए आश्रम से बाहर दूर जाना पड़ता है। इस सम्बन्ध में वहाॅं उपस्थित केयरटेकर ने बताया कि आश्रम का समरसीबुल गत कई माह से खराब है, पीने और नहाने के पानी व्यवस्था पड़ोसी के सहयोग से की जाती थी, परन्तु लाकडाउन के कारण पड़ोसी घर पर नहीं हैं, जिससे यह समस्या उत्पन्न हो गयी है। बुजुर्गों द्वारा यह भी बताया गया कि पहनने के लिए कपड़े साल में दो बार मिलना चाहिए परन्तु वह भी नहीं मिल रहा है। वृद्धाश्रम में चैकियों में बिछी बेडशीट, चादर के साथ ही बुजुर्गों के बदन पर कपड़े काफी मेले कुचैले मिले, इसके अलावा किचेन की भी साफ सफाई खराब मिली। अपर आयुक्त श्री मिश्र द्वारा बुजुर्गों के मेडिकल चेकअप एवं दवा इलाज के सम्बन्ध में पूछे जाने पर अवगत कराया गया कि आश्रम में दवायें उपलब्ध है, नियमित रूप से चेकअप होता था, परन्तु 3 अप्रैल से चिकित्सक नहीं आ पा रहे हैं जिसके कारण चेकअप नहीं हो पा रहा है। मण्डलीय अधिकारियों ने निरीक्षण के दौरान आश्रम में उपस्थित अन्य सुविधायें जैसे कूलर, फ्रीजर, वाशिंग मशीन, टीवी आदि का विधिवत परीक्षण किया। मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने वृद्धाश्रम की साफ सफाई, पानी आदि की व्यवस्थाओं में पाई कमियों पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए उप निदेशक समाज कल्याण को निर्देशित किया व्यक्तिगत रूप से लगकर तत्काल सभी कमियों को दूर कराते हुए दो दिन के अन्दर अवगत करायें। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थिति के दृष्टिगत आश्रम में आवासित बुजुर्गों के प्रति पूरी तरह संवेदनशील रहकर उनको मूलभूत सुविधायें उपलब्ध कराना हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। उन्होंने निर्देश दिया कि पानी की व्यवस्था सुदृढ़ करने हेतु खराब समरसीबुल को तत्काल ठीक कराने के साथ ही लाकडाउन को देखते हुए आश्रम के अधीक्षक व चिकित्सक के साथ ही अन्य स्टाफ की भी उपस्थिति सुनिश्चित कराई जाय। इसके साथ ही रसोईयों, सफाई कर्मियों के बकाया भुगतान की कार्यवाही भी तत्परता से कराई जाय। ---

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment