.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

कोई भूखा न रहे ,हर जरूरतमंद को राशन उपलब्ध कराएं - डीएम

आपदा प्रबंधन का मूल कार्य लेखपाल का है, बाहर से आये हर व्यक्ति की सूचना दें

बाहर से आया व्यक्ति अगर स्वस्थ है तो मनरेगा जॉब कार्ड बनवा दें

आजमगढ़ 24 अप्रैल-- कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में देर सायं उप जिलाधिकारियों एवं खंड विकास अधिकारियों के साथ बैठक संपन्न हुई। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने समस्त खंड विकास अधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित करें कि गांव स्तर पर कोई भी जरूरतमंद व्यक्ति किसी योजना से आच्छादित नहीं है वह भूखा ना रहे, उसको खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध कराई जाए। इसी के साथ ही सचिव यह सुनिश्चित करें कि जब तक तहसील स्तर से जरूरतमंद लोगों को सुविधा नहीं मिलती है, तब तक संबंधित जरूरतमंद को राशन उपलब्ध कराएं। जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि कोई व्यक्ति यदि गाँव मे बाहर से आता है तो उसको होम कोरेन्टाइन या संस्थागत कोरेन्टाइन कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने बताया कि लेखपाल द्वारा बाहर से आए व्यक्तियों की सूचना दी जाएगी। डीएम ने कहा कि आपदा प्रबंधन का मूल कार्य लेखपाल का है। उन्होने सचिव को निर्देश दिए कि कोई व्यक्ति बाहर से आता है एवं वह स्वस्थ है और मनरेगा का कार्य करना चाहता है तो उस व्यक्ति का जॉब कार्ड बनवाएं एवं जो जॉब कार्ड निष्क्रिय है, उसे निरस्त कराये। मनरेगा के कार्य करते समय श्रमिकों में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें और साफ-सफाई पर ध्यान दें, हाथों को सैनिटाइज भी कराते रहे। जिलाधिकारी ने कहा कि आपदा प्रबंधन में जो कर्मचारी लगे वह ग्रामवार बुकलेट तैयार कराये, जिसमें सभी व्यक्तियों के विवरण के साथ-साथ सरकारी संपत्तियों का विवरण हो। इसी के साथ ही साथ जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि समस्त लेखपालों के पास वर्क प्रोफाइल पहुंच जाएं। सभी एसडीएम/तहसीलदार/ खंड विकास अधिकारी लेखपालों के साथ सप्ताह मे 2 दिन बुधवार व शनिवार को बैठक करें। जिलाधिकारी ने कहा कि जिला पंचायत द्वारा ऐसे कार्य कराए जाएं जो ग्राम स्तर पर होना है। डीएम ने लेखपाल से कहा कि सुनिश्चित करें कि लाभार्थियों के खाते में पेंशन आई है कि नहीं। इसी के साथ ही 01 मई से खाद्यान्न वितरण प्रारंभ होना है, इसके लिए शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है, इसी के साथ लेखपाल भी खाद्यान्न वितरण पर नजर रखेंगे। डीएम ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि जो ग्राम प्रधान मनरेगा के कार्य में रुचि नहीं ले रहे हैं या मनरेगा का कार्य नहीं कर रहे हैं ऐसे प्रधानों के 3 वर्ष के मनरेगा के कार्य की जांच कराएं। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनंद कुमार शुक्ला, मुख्य राजस्व अधिकारी हरी शंकर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेंद्र सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व गुरुप्रसाद, जिला विकास अधिकारी रविशंकर राय, परियोजना निदेशक अभिमन्यु सिंह, सहित समस्त खंड विकास अधिकारी उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment