.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : आक्सीजन के अभाव में टूटी वृद्ध की सांसें, परिजनों ने हंगामा मचाया

-मंडलीय चिकित्सालय के चिकित्सक पर लगाए गंभीर आरोप 

-प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक के समझाने पर शांत पड़े तीमारदार 

आजमगढ़ : मंडलीय चिकित्सालय में मंगलवार देर शाम एक वृद्ध की इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने आक्सीजन के अभाव में मरीज की सासें टूटने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा मचाया। बहुत देर तक हो-हल्ला मचने के बाद प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक पहुंचे तो मान-मनौव्वल के बाद लोगों का आक्रोश ठंडा पड़ सका। उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए डॉ. राजनाथ को मामले की जांच सौंपी है।
जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के अंजान शहीद के समीप सोमवार दोपहर तेज रफ्तार टेंपो बाइक को टक्कर मारने के बाद अनियंत्रित होकर पलट गया। हादसे में टेंपो सवार पांच लोग घायल हो गए थे। गंभीर रूप से घायल हरिप्रसाद (60) पुत्र घुरई ग्राम रौसड़ थाना कप्तानगंज निवासी को मंडलीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान मंगलवार शाम लगभग चार बजे उनकी मौत हो गई। उनकी मौत से परिजन आपा खो बैठे, डाक्टर व कर्मचारियों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिए। हरिप्रसाद की पुत्री ने आरोप लगाया कि डॉ. बीके श्रीवास्तव इलाज कर रहे थे। वे सुबह से मरीज को देखने तक नहीं आए। दोपहर को स्टाफ नर्स ने इंजेक्शन लगाया तो हरि प्रसाद की तबीयत बिगड़ने लगी। सांस लेने में दिक्कत हुई तो आक्सीजन तक की व्यवस्था नहीं की जा सकी। स्टाफ नर्स से कहने पर जवाब मिला कि आक्सीजन नहीं है। कुछ देर बाद ही उनकी सांसें कमजोर पड़ गईं।
प्रमुख चिकित्साधीक्षक डा. श्रीकृष्ण गोपाल सिंह ने कहा की मंडलीय जिला अस्पताल में ऑक्सीजन का सेंट्रालाइज सिस्टम है। परिजनों के सामने ही सिस्टम को चेक किया तो आक्सीजन फुल प्रेशर में आ रहा था। मरीज की हालत गंभीर बनी हुई थी। डा. रामकेवल ने देखने के बाद ही इंजेक्शन लगवाया था, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। डा. राजनाथ को मामले की जांच सौपी गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह स्पष्ट हो जाएगी। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment