.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: पारम्परिक गीतों एवं पकवानो के बाच नारी शक्तियों ने मनाया होली मिलन समारोह

नारी शक्ति संस्थान के होली मिलन समारोह में मुख्य अतिथि रहीं राज्य महिला आयोग सदस्य श्रीमती संगीता तिवारी

आजमगढ़: नारी शक्ति संस्थान द्वारा नगर के ब्रह्मस्थान स्थित अशोका नगर कालोनी में होली मिलन समारोह-2020 का आयोजन रविवार को किया गया। जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में पहुंची राज्य महिला आयोग सदस्य व संस्था संरक्षक श्रीमती संगीता तिवारी, विशिष्ठ अतिथि श्रीमती कंचन मिश्र, श्रीमती अनुपमा तिवारी व संरक्षक मंडल ने मां दुर्गा को अबीर-गुलाल लगाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान नारी शक्तियों ने अपने घरों से लजीज पकवान बनाकर होली मिलन को परिवार मिलन के रूप में धूमधाम के साथ मनाया। समारोह में नारी शक्तियों ने पारम्परिक गीत 'खेले मसाने में होली दिगम्बर....,' सिया निकलें अवधवा की ओर, होलिया खेले राम लला... आदि के जरिये होली मिलन को खास बनाने का कार्य किया। संचालन सचिव डा पूनम तिवारी ने किया।
संरक्षक सुधा तिवारी ने कहा कि होली का पर्व हमेशा चेतन मन में रंग भरने का काम करता है। होली मिलन समारोह के जरिये मानव जीवन में रंग भरके सींचने का कार्य किया जाये ताकि जीवन में प्रेम, आपसी सौहार्द्र कायम होकर समाज को एक सूत्र में पिरोने का कार्य हो सकें। होली के दिन या रंग खेलने के दौरान ही नहीं, होली के बाद सप्ताहभर तक होली की खुमारी और उमंग बनी रहती है। ऐसे में सामाजिक होली मिलन आयोजन करके समाज को एकजुट रखने का संदेश दें, तभी होली का पर्व अपने लक्ष्य में सफल हो सकता है।
संरक्षक श्रीमती अनीता आलोक श्रीवास्तव ने कहा कि रंगों के इस त्योहार में किसी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए। तभी होली के रंग का उत्साह समाज को खुशहाल बना सकता है। होली में रंग खेलने के अलावा दूसरा सब से बड़ा महत्व यह है कि इसमें एक-दूसरे से मिलने व सामाजिक समरसता के लिए होली मिलन का आयोजन होना। जिससे समाज को एकजुट रहने का संदेश जाता है। जरूरत इस बात की है कि होली मिलन में सामाजिकता को और बढ़ावा दिया जाए। अगर ये खास वर्ग के लिए न होकर सभी नारी शक्तियों के लिए हों तो इसकी उपयोगिता बढ़ेगी और नारी शक्ति संस्थान का इस आयोजन का एकमात्र उद्देश्य यही है। आज जाति और धर्म के नाम पर भेदभाव व गैर बराबरी का दर्जा देने की बहुत घटनाएं हो रही हैं। ऐसे में अगर होली मिलन के बहाने सभी लोग जाति व धर्म के भेदभाव के बंधन के परे होली मिलन समारोह में हिस्सा लें तो सामाजिक रंग बने रहेंगे। सही मायने में हर त्योहार का यही उद्देश्य होता है। समारोह में नारी शक्ति संस्थान के संरक्षक, पदाधिकारी व सदस्य नारी शक्तियां मौजूद रही।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment