.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

सभी नगर पालिका और पंचायतें नोवेल कोरोना वायरस के नियन्त्रण हेतु अपने क्षेत्र में सफाई अभियान चलाएं -डीएम

सार्वजनिक आयोजनों से बचा जाए, सफाई के दौरान एकत्रित कूड़े को सेनेटरी लैण्डफिल साइट पर तत्काल भेजें - डीएम 

वायरस के संक्रमण से बचाव सम्बन्धित संदेश प्रसारित किये जाएँ ,शुद्ध पेयजल की व्यवस्था जरूर करें 

आजमगढ़ 16 मार्च -- जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने समस्त अधि0 अधि0 नगरपालिका/नगर पंचायत को नोवेल कोरोना वायरस के नियन्त्रण हेतु अपने-अपने सम्बन्धित क्षेत्रों में सफाई अभियान चलाने के निर्देश दिए।
उन्होने कहा कि सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु अधिशासी अधिकारी अपने-अपने निकाय में विशेष कार्य दल, जिसमें नगर निकाय के अधिशासी अधिकारी व कूडा उठाने के वाहन, मशीन व अन्य उपकारणों के साथ क्षेत्र में निकलेंगे व स्वयं की देख-रेख में निर्धारित क्षेत्र को साफ कराये। यह सफाई अभियान प्रत्येक वार्ड में संचालित किया जाना है। इस दौरान नगर आयुक्त/अधिशासी अधिकारी अपने अधीनस्थ अधिकारियों को विशेष सफाई टीम के नतेृत्व की वार्डवार जिम्मेदारी तय करते हुए नामित करेंगे। सफाई के दौरान एकत्रित किये गये कूडे को उसी समय सेनेटरी लैण्डफिल साइट पर भिजवाया जायेगा।
उन्होने कहा कि सफाई अभियान के दौरान छोटे-बड़े सभी नालों की सफाई भी सुनिश्चित कराये। बड़े नालों की संख्या अधिक होने की दशा में वे नाले चिन्हित किये जायेंगे, जो जलनिकासी के लिये अत्यधिक आवश्यक हों और उनकी सिल्ट की सफाई तली तक की जायेगी। नाले से निकला हुआ सिल्ट तत्काल वहां से सेनेटरी लैण्डफिल साइट पर अथवा उचित स्थान पर भिजवाया जायेगा। किसी भी दशा में एकत्रित किये गये कूड़े अथवा सिल्ट को सड़क पर नहीं छोड़ा जायेगा।
शुद्ध पेयजल की व्यवस्था बीमारियों के बचाव के लिये अत्यन्त आवश्यक है। जल संस्थान व नगर निकाय के अधिकारी इस अभियान के दौरान पेयजल व्यवस्था से जुड़े नलकूप, पाइपलाइन्स व अन्य उपकरणों का संचालन इस तरह सुनिश्चित करें कि पाइप पेयजल की आपूर्ति उनके क्षेत्र में अधिक से अधिक समय तक सुचारू रूप से हो सके। जिन क्षेत्रों में पेयजल की सप्लाई हैण्डपम्प से हो रही है उन इलाकों में प्रत्येक घर को क्लोरीन के टेबलेट उचित मात्रा में वितरित कराना सुनिश्चित करे। इस अभियान के तहत समस्त सामुदायिक शौचालय, पब्लिक टयलेट आदि की समुचित सफाई व रख-रखाव सुनिश्चित कराये।
वैक्टरजनित रोगों के रोकथाम के लिये आवश्यक है कि दवाई का नियमित छिड़काव व फाॅगिंग की जाये। इस अभियान के दौरान जल भराव वाले स्थानों को चिन्हित करके प्रतिदिन, दिन में दवा का छिड़काव कराये तथा शाम के समय फाॅगिंग की जाये।
उन्होने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु आम जन मानस के मध्य उपरोक्त विषयगत समुचित जानकारी एवं संवेदीकरण किये जाने के विषयगत विशेष रूप से प्रचार-प्रसार अभियान प्रत्येक निकाय मेे वार्ड स्तर पर प्रभावी रूप से सुनिश्चित किया जाये। सार्वजनिक स्थ्लों, शासकीय भवनों एवं अन्य प्रमुख स्थलों आदि पर पोस्टर, बैनर, होर्डिंग, हैंडबिल के माध्यम से प्रभावी रूप से नगरीय क्षेत्र में व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाये।
उन्होने कहा कि सार्वजनिक प्रतिष्ठानों/स्थलों पर विशेष सफाई पर सुनिश्चित की जाये जहां व्यक्तियों का समूह एकत्रित होता हो यथा सिनेमाहाल परिसर, माल, बस स्टेशन, होटल आदि। किसी प्रकार के सामूहिक आयोजनों अथवा सार्वजनिक स्थल पर होने वाले कार्यक्रमों को यथा सम्भव वर्तमान में हतोत्साहित किया जाये तथापि यदि अपरिहार्यतावश् जन समूह के एकत्रित होने सम्बन्धी कोई आयोजन यदि निकाय क्षेत्र में होता है तो वहां पर उपरोक्त समारोह के आयोेजक के साथ समन्वय कर कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव सम्बन्धित संदेश के विषयगत प्रचार-प्रसार भली-भांति सुनिश्चित कर आम जन मानस को जागरूक किया जाये। साथ ही साथ ऐसे सार्वजनिक स्थल/प्रतिष्ठान जहां पर भीड़-भाड़ रहती है अथवा व्यक्तियों के समूह का आवागमन रहता है, उक्त प्रकार के परिसर/स्थल हेतु विशेष सफाई की व्यवस्था कराया जाना सुनिश्चित किया जाये।
जिलाधिकारी ने समस्त अधि0 अधिकारी नगरपालिका/नगर पंचायत को निर्देशित किया जाता है कि उक्त निर्देश भारत सरकार/उत्तर प्रदेश सरकार की प्राथमिक्ता का मुख्य विषय है जन मानस की सुरक्षा की दृष्टि से इसका अनुपालन किया जाना परम आवश्यक है। संदर्भित प्रकरण में निर्देशों का समय से अनुपालन न किये जाने/चूक पाये जाने की स्थिति में सम्बन्धित अधिशासी अधिकारी का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए अग्ररेतर कार्यवाही सुनिश्चित कर दी जायेगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment