.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: दूल्हा हत्याकांड : हत्यारों के शरणदाता भी जायेंगे जेल,दर्ज हुआ मुकदमा

दोनों फरार हत्यारोपियों पर पुलिस ने रखा 50 -50 हजार का पुरस्कार 
आजमगढ़। देवगांव कोतवाली के मसीरपुर में गत 4 फरवरी को हुए दूल्हा हत्या काण्ड में शामिल हत्यारों
की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कई टीम बनाकरलगातार छापेमारी कर रही है। लेकिन उसके हाथ सफलता नहीं लगी है। पुलिस का मानना है की लगभग दर्जन भर लोग हत्यारों की मदद कर रहे थे जिससे पुलिस के पहुंचने से पहले ही हत्यारे फरार हो जाते थे। यानि पलिस की हर गतिविधि की जानकारी उन तक पहुंच जाती थी। पुलिस ने जहां हत्यारों का पता बताने वालों को पुरस्कृत करने की बात कही तो वहीं हत्यारों को संरक्षण देने के आरोप में अनूप सोनकर पुत्र राजेंद्र सोनकर निवासी हनुमानगढ़ी कटघर थाना देवगांव, मोअख्तर पुत्र मो.अकमल निवासी जमुड़ी थाना मुबारकपुर, मोआतिफ पुत्र मोअख्तर निवासी जमुड़ी थाना मुबारकपुर, महेंद्र
सोनकर पुत्र स्वरामजीत सोनकर निवासी कालीनगंज थाना कोतवाली आजमगढ़, रंजीत सोनकर पुत्र स्वरमेश सोनकर निवासी भीखमपुर थाना कोतवाली जनपद देवरिया, सीमा सोनकर पुत्री फूलचंद सोनकर निवासी व थाना जहांगीरगंज अम्बेडकर नगर, आभा सोनकर पुत्री सुरेंद्र सोनकर निवासी हनुमानगढ़ी कटघर लालगंज ना देवगांव, मोइसरार पुत्र शब्बीर निवासी उजियारी थाना निजामबाद, दीपक उपाध्याय पुत्र श्रीनिवास उपाध्याय निवासी कोलघाट शहर कोतवाली, सोनू सेठ पुत्र शिव सेठ निवासी बवाली मोढ़ आदि के विरूद्ध अपराधियों को शरण देने व सहयोग करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर कर लिया था जिसमें शामिल अनूप सोनकर पुत्र राजेंद्र सोनकर निवासी हनुमानगढ़ी देवगांव व मो. अख्लर पुत्र मो.अकमल निवासी जमुड़ी थाना मुबारकपुर को गिरफ्तार कर पुलिस जेल भेज चकी है तो वहीं अन्यों की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दे रही है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment