.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

सराहनीय ! मण्डलायुक्त ने 20 साल से भटक रही विधवा को रातों रात दिलाया उसकी भूमि पर कब्जा

मण्डलायुक्त आजमगढ़ की है विशिष्ट कार्यशैली, त्वरित न्याय दिलाने का पर्याय बन चुकीं है कनक त्रिपाठी 

मिनट टू मिनट खुद मॉनिटरिंग कर 20 वर्षों से भटक रही विधवा की भूमि कुछ ही घंटो में खाली करा उसे कब्जा दिला दिया 

आज़मगढ़ 16 फरवरी -- भू-माफियाओं, हेराफेरी करने वालों, आमजन की हकतल्फी करने वालों, कूटरचना कर अनुचित लाभ लेने वालों, दबंगों के साथ ही शासकीय कार्यों में अनियमितता, शिथिलता और लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करने तथा पीड़ितों को त्वरित न्याय दिलाने का पर्याय बन चुकीं मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने अपनी विशिष्ट कार्यशैली के अनुसार शनिवार को देर रात्रि में 20 वर्षों से अधिक समय से अपनी भूमि पर कब्जे के लिए भटक रही विधवा को त्वरित कब्जा दिलाकर सराहनीय कार्य को अन्जाम दिया है। मण्डलायुक्त के उक्त कृत्य की क्षेत्रावासियों द्वारा खुले मन से प्रशंसा की जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार तहसील मार्टिनगंज अन्तर्गत ग्राम खरसहन कला निवासी बासमती देवी ने गत 30 जनवरी को मण्डलायुक्त के समक्ष इस आशय का प्रार्थना पत्र दिया था कि उनके पति जयराज यादव की मृत्यु लगभग 25 वर्ष पूर्व हो चुकी है तथा गांव में पति के हिस्से की जमीन गाटा संख्या 234, 228, 280, 281 एवं 282 पर एक चौथाई भाग की वरासत भी हो चुकी है, परन्तु पट्टीदार रामराज, उदयराज, राधेश्याम जबरदस्ती उनकी भूमि पर कब्जा जमाये हुए हैं तथा उन लोगों से कब्जमुक्त कराये जाने हेतु 20 वर्ष से अधिक समय से वह लगातार सरकारी कार्यालयों का चक्कर लगा रही हैं परन्तु अभी तक जमीन खाली कराये जाने की दशा में कोई कार्यवाही नहीं की गयी है। उन्होंने बताया कि उनके उक्त पट्टीदारों द्वारा अपनी जमीन के साथ ही उनकी जमीन को भी आपस में बॉंट लिया गया है। पीड़ित बासमती देवी ने यह भी बताया कि अपने हिस्से की भूमि मांगने पर उक्त लोग मारपीट पर उतारू हो जाते हैं।
मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने इस स्थिति पर सख्त अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए तत्समय ही उपजिलाधिकारी मार्टिनगंज को उक्त विधवा को उनकी जमीन पर तत्काल कब्जा दिलाकर अवगत कराने का निर्देश दिया। परन्तु इस दिशा में कोई कार्यवाही नहीं किये जाने पर पुनः बासमती देवी ने शनिवार को उपस्थित होकर मण्डलायुक्त को वस्तुस्थिति से अवगत कराया। मण्डलायुक्त ने इसे उच्च स्तर से प्राप्त निर्देशों की अवहेलना मानते हुए तत्काल उपजिलाधिकारी मार्टिनगंज से वार्ता किया तथा सख्त हिदायत दी कि तत्काल मौके पर राजस्व एवं पुलिस की संयुक्त टीम लेकर जायें तथा उक्त विधवा महिला को कब्जा दिलाकर तत्समय ही अवगत करायें। मण्डलायुक्त का निर्देश मिलते ही पूरा तहसील अमला फौरन हरकत में आ गया, परन्तु समय से पुलिस बल उपलब्ध नहीं हो पाया। इस दौरान मण्डलायुक्त द्वारा पुनः पूछतात करने पर उपजिलाधिकारी द्वारा पुलिस बल की अनुपलब्धता के सम्बन्ध में अवगत कराया गया, जिस पर उन्होंने सम्बन्धित थानाध्यक्ष को तत्काल पुलिस बल उपलब्ध कराये जाने हेतु निर्देशित किया। उपजिलाधिकारी मार्टिनगंज धीरज श्रीवास्तव एवं तहसीलदार प्रेम कुमार राय, सम्बन्धित राजस्व निरीक्षक व लेखपाल पुलिस बल के साथ देर सायं उक्त गांव खसहनकला पहुंचे तथा उक्त महिला के सभी 5 गाटों की पैमाइश, निशानदेही आदि की कार्यवाही करते हुए रात्रि 10 बजे उपजिलाधिकारी द्वारा मण्डलायुक्त को समस्त कार्यवाही पूर्ण कराते हुए कब्जा दिला दिये जाने के सम्बन्ध में अवगत कराया गया तथा मौके पर कराई गयी फोटोग्राफी की प्रति भी उपलब्ध करायी गई। कृत कार्यवाही की पुष्टि हेतु मण्डलायुक्त ने उक्त महिला से स्वयं बातचीत किया तथा कहा कि यदि भविष्य में पुनः किसी के द्वारा परेशान किया जाता है तो तुरन्त अवगत करायें।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment