.

.

.

.

.

.
.

कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ने सदर सांसद अखिलेश यादव को लापता बता चस्पा किये पोस्टर

पोस्टर में सवाल किया है कि सीएए और एनआरसी विरोधी प्रदर्शन के दौरान बर्बरता पर अखिलेश यादव क्यों चुप हैं

आजमगढ़ : बिलरियागंज की घटना पर सियासत अब तेज हो गई है। समाजवादी पार्टी ने पहले दिन प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई पर सरकार को घेरा तो अब कांग्रेस ने सदर सांसद व सपा मुखिया अखिलेश सिंह यादव के खिलाफ पोस्टर वार शुरू कर दिया है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग की तरफ से शहर में पोस्टर लगाए गए हैं। इसमें कांग्रेस ने सवाल किया है कि सीएए और एनआरसी विरोधी प्रदर्शन के दौरान मुस्लिम महिलाओें पर पुलिसिया बर्बरता पर अखिलेश यादव क्यों चुप हैं। यही नहीं पोस्टर में लिखा है की सांसद अखिलेश यादव 2019 के चुनावों के बाद से आजमगढ़ से लापता हैं। पोस्टर पर अखिलेश यादव की फोटो लगाई गई है और फोटो के मुंह पर पट्टी लगाई गई है। कांग्रेस के पोस्टर वार को सियासी नजरिए से देखा जा रहा है, क्योंकि सपा मुसलमानों की हमेशा हितैषी होने का दावा करती रही है। वर्ष 2014 के चुनाव के बाद जब मुलायम सिंह चुनाव जीतने के बाद आजमगढ़ नहीं आए तो भाजपा के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ने पोस्टर लगाया था।
वहीं शनिवार को दिन भर सोशल मीडिया में अखिलेश के खिलाफ कांग्रेस की ओर से लगाया गया यह पोस्‍टर काफी चर्चा में रहा। लोगों ने इस बात के लिए भी खिंचाई किया कि कांग्रेस और सपा विधान सभा चुनाव साथ में लड़ा था मगर अब स्थिति यह हो गई कि दोनों पार्टियां ही नहीं बल्कि कार्यकर्ता भी आमने सामने हो गए हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment