.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : पथराव के बीच आंसू गैस के गोले छोड़ पुलिस ने खाली कराया जौहर अली पार्क

CAA के खिलाफ महिलाओं को धरना प्रदर्शन के लिए उकसाने के आरोप में मौलाना ताहिर मदनी समेत 19 गिरफ्तार  

बिलरियागंज क्षेत्र में भारी फाॅर्स तैनात, स्थिति नियंत्रण में,35 नामजद व 100 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज

आजमगढ़ : नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ जिले के बिलरियागंज कस्बे के जौहर अली पार्क में दिल्ली के शाहीन बाग की तरह मंगलवार की सुबह अचानक धरना शुरू करने वाली महिलायें जब मान मनौव्वल के बाद भी नहीं हटी तो भोर में ख़राब हुए हालात देख आंसू गैस के गोले छोड़ और उकसा रहे युवकों पर हल्का बल प्रयोग कर हटा दिया गया । इस दौरान युवकों ने पत्थरबाजी की तो उन्हें लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया गया। रात करीब तीन बजे शुरू हुई कार्रवाई के बाद भोर तक मैदान को खाली करा लिया गया। फिलहाल बिलरियागंज में शान्ति है और पीएसी समेत कई थानों की फोर्स तैनात कर दी गई है। प्रशासन द्वारा मैदान खाली होते ही उसमें पानी भी भर दिया गया ताकि महिलाएं दोबारा यहां न बैठें।
वहीँ पुलिस कार्यवाही को रोकने के लिए हुए पथराव में पुलिस के आधा दर्जन सिपाही व प्रदर्शन कर रही एक महिला घायल हुई है। पुलिस का एक वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया। सुबह होते ही पुलिस ने 35 नामजद व 100 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज करते हुए राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल के महासचिव मौलाना ताहिर मदनी व एक महिला समेत 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। शिथिलता बरतते हुए महिला को जमानत दे दी गई बाकी सभी को जेल भेज दिया गया ।
मंगलवार की दोपहर सीएए, एनआरसी व एनपीआर के विरोध में कस्बे के जौहर अली पार्क में दर्जनों महिलाएं बिना अनुमति के धरना प्रदर्शन के लिए जुट गईं। हाथों में विरोध स्वरूप स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर शाम चार बजे तक महिलाओं ने प्रदर्शन किया। इसके बाद कुछ महिलााओं को छोड़कर मैदान खाली होने लगा।
शाम 6 बजे से एक बार दोबारा पार्क भरना शुरू हो गया। शाहीन बाग की तर्ज पर इस धरने को निश्चितकालीन करने का इरादा दिखने लगा। मौके पर पुलिस फोर्स भी बढ़ने लगी। आधी रात के बाद डीएम एनपी सिंह व एसपी त्रिवेणी सिंह ने भी मौके पर पहुंच कर उन्हें समझाया। लेकिन महिलाएं खुले आसमान के नीचे डटी रहीं। जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह व एसपी प्रो. त्रिवेणी सिह,एसपी ग्रामीण नरेन्द्र प्रताप सिंह ने महिलाओं के बीच जा कर उन्हें समझाया की धरना प्रदर्शन करने के.लिए परमिशन के लिए जरुरी कागजात बनवाएं और मुबारकपुर और शहर के कर्बला मैदान की ही तरह हम आपको भी इसकी इजाजत देंगे और प्रशासन के अनुसार इसके लिए महिलाएं तैयार हो गयीं। जिसमे अगल बगल से युवाओं के आवाज आने लगी की प्रशासन की बात को ना मानो, धरने पर बैठी रहो। जिस पर जिलाधिकारी ने उन्हें मां, बहन,बेटियां सम्बोधित करते हुए कहा की आप सभी लोग घर जाए, दो दिन बाद मुबारकपुर की तरह आप सभी को परमिशन दे दी जायेगी। आपके दिल में जो गुस्सा है उसका इजहार कर लेना और हमे ज्ञापन दे देना। डीएम से वार्ता कर दो तीन बार महिलाएं जाने को हुईं लेकिन हर बार आस पास और गलियों में मौजूद युवकों द्वारा उन्हें वापस भेज दिया जाता था। भोर में एक समय ऐसा आया की प्रदर्शनकारियों को महिला पुलिस ने बलपूर्वक हटाना शुरू किया तो हंगामा शुरू हो गया। पार्क के बाहर की गलियों से कुछ युवकों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। युवकों को उग्र होता देख पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़ते हुए युवाओं को खदेड़ा और महिलाअेां से धरना स्थल खाली करा लिया। पथराव कर रहे युवकों पर लाठियां भांजते हुए उन्हें तितर बितर किया। इसके बाद पार्क में दोाबारा धरना न शुरू हो इसलिए उसमें पानी भरवा दिया गया। पथराव में बिलरियागंज एसओ की जीप क्षतिग्रस्त हो गई। जिलाधिकारी ने बताया की उनके आश्वासन पर महिलायें धरना ख़त्म कर जाने लगती थीं लेकिन कुछ लोगों द्वारा उन्हें वापस भेज दिया जाता था। उकसाने वाले लोगों को पुलिस ने चिन्हित कर लिया था। इन्ही लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment