.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : उत्तर प्रदेश दिवस पर योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किया गया

उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों का सम्मान भी हुआ

आजमगढ़ 24 जनवरी-- जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में उत्तर प्रदेश दिवस के अवसर पर सरकार द्वारा संचालित लोक कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरण एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों का सम्मान समारोह का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने बताया कि 24 जनवरी 2020 को उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है, आज ही के दिन 24 जनवरी 1950 में उत्तर प्रदेश का स्थापना किया गया था। उन्होने बताया कि शासन के निर्देश के क्रम में जनपद मुख्यालय पर उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस मनाया जा रहा है, जिसके अन्तर्गत विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों को सम्मानित किया जा रहा है।
जिलाधिकारी ने बताया कि जिला ग्रामोद्योग, जिला नगरीय विकास अभिकरण, ग्राम्य विकास विभाग, कृषि विभाग, समाज कल्याण विभाग के लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया। इसी के साथ ही पीडब्ल्यूडी, समाज कल्याण, नगर विकास विभाग, पशु पालन विभाग, जिला कार्यक्रम विभाग, जिला पंचायत विभाग, पंचायती राज विभाग, राजस्व विभाग, कृषि विभाग, एनआरएलएम आदि विभागों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों को सम्मानित किया गया।
जिलाधिकारी ने बताया कि जिला पंचायत आजमगढ़ के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में 34.08 करोड़ की लागत से जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 319 सड़कों एवं 65 अन्य जनोपयोगी कार्यों का निर्माण कार्य कराया जा चुका है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में 42.6 करोड़ की लागत से 461 परियोजनाएं प्रस्तावित है। ग्राम्य विकास विभाग में मनरेगा के अन्तर्गत जनपद स्तर पर योजनान्तर्गत मानव दिवस के लक्ष्य 6929000 के सापेक्ष कुल 5159651 मानव दिवस का सृजन कर रोजगार उपलब्ध कराया गया जो लक्ष्य का 74.46 प्रतिशत है। कुल 11867 व्यक्तिगत कार्य के लक्ष्य के सापेक्ष 6186 कार्य प्रारम्भ कराये जा चुके हैं, जो लक्ष्य का 52.13 प्रतिशत है। जनपद के कुल 331 परिवारों को 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराया गया। सामुदायिक भूमि पर चिन्हित 26 अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल के लक्ष्य के सापेक्ष 26 का निर्माण कार्य पूर्ण कराया गया है तथा 01 जनवरी 2020 को एक साथ 22 ग्रामीण बाजार एवं 44 खेल मैदान का शिलान्यास किया गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 105 लक्ष्य के सापेक्ष 105 लाभार्थियों को प्रथम किस्त, 73 लाभार्थियों को द्वितीय किस्त एवं 27 लाभार्थियों को तृतीय किस्त अवमुक्त किया गया है। 26 जनवरी को 27 आवासों का गृह प्रवेश किया जायेगा। मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में जनपद में कुल 2145 लक्ष्य के सापेक्ष मुसहर/बनवासी समुदाय के 238 ग्रामों में 2038 परिवारों को योजना से आच्छादित किया गया है। 26 जनवरी को 1114 लाभार्थियों का गृह प्रवेश किया जाना है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत इन्टेंसिव विकास खण्डों में कुल 8329 समूहों का गठन कर कुल 11.794 करोड़ की विभिन्न प्रकार की आजीविका निधियां वित्तीय वर्ष 2019-20 में उपलब्ध करायी गयी है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में 18 विकास खण्डों में प्रेरणा कैन्टीन की शुरूआत करायी गयी। वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 16 विकास खण्डों में सी0आई0बी0 बोर्ड का निर्माण कार्य प्रारम्भ कराया गया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 23 ग्राम संगठनों को फार्म मशीनरी बैंक योजना से लाभान्वित कराया गया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में सी0आई0एफ0/सी0सी0एल0 प्राप्त समूहों के 15000 सदस्यों को आजीविका प्रशिक्षण दिया जा रहा है एवं 26 जनवरी 2020 को एक साथ 278 न्याय पंचायतों में मनरेगा के अन्तर्गत नर्सरी का कार्य प्रस्तावित है।
इसी के साथ ही कृषि विभाग द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनान्तर्गत जनपद में कुल 657541 कृषकों के पंजीकरण के सापेक्ष 541830 कृषकों के खाते में 34442.98 लाख की धनराशि का भुगतान उनके बैंक खातों में किया गया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में फसल अवशेष प्रबन्धन को बढ़ावा देने हेतु जनपद में 59 कस्टम हायरिंग सेंटर/फार्म मशीनरी बैंक की स्थापना एनआरएलएम एवं एफपीओ के समूहों के माध्यम से करते हुए 627.97 लाख का अनुदान उनके बैंक खातों में अन्तरित किया गया है। वर्तमान सत्र में 666 राजस्व ग्रामों वर्मी कम्पोस्ट पिट की स्थापना कराते हुए 39.96 लाख रूपये की अनुदान धनराशि डी0बी0टी0 के माध्यम से पंजीकृत खातों में अंतरित किया गया है। समाज कल्याण विभाग द्वारा जनपद स्तर पर वृद्धावस्था पेंशन योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 84361 पात्र लाभार्थियों के बैंक खाते में 5061.66 लाख रूपये की धनराशि अन्तरित की गयी है। जनपद स्तर पर राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 1116 पात्र परिवारों के बैंक खाते में 334.80 लाख की धनराशि अंतरित की गयी है । अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति व सामान्य वर्ग शादी अनुदान योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 1490 लाभार्थियों को लाभान्वित कराया गया है। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार उत्पीड़न अधिनियम 1995 के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 536 लाभार्थियों के खाते में 416.365 लाख की धनराशि अन्तरित की गयी है एवं वित्तीय वर्ष 2019-20 नव प्रयोग के अन्तर्गत लोक कल्याणकारी शिविर आयोजित कराकर 60000 विभिन्न पेंशनों के आवेदन प्राप्त किये गये, जिनमें से 3900 की स्वीकृति की जा चुकी है।
इसी क्रम में जिलाधिकारी ने आगे बताया कि पंचायती राज विभाग द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 256450 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण कराया गया है। 110 सामूदायिक शौचालयों का निर्माण कार्य प्रस्तावित है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में जनपद में मु0 243 लाख की लागत से 11 ग्राम पंचायतों में अन्त्येष्टि स्थल का निर्माण कराया जा रहा है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में मु0 860 लाख की लागत से 49 ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में कायाकल्प के अन्तर्गत 1551 विद्यालयों में निर्माण/मरम्मत कार्य कराया जा रहा है। प्रान्तीय खण्ड लो0नि0विभाग द्वारा पं0 दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण सड़क योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में 2.15 किमी लम्बाई में 138.99 लाख की धनराशि का व्यय सुनिश्चित किया गया है। मा0 मुख्यमंत्री समग्र ग्राम्य विकास योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में 5.23 किमी लम्बाई पर 212.26 लाख की धनराशि का व्यय सुनिश्चित करते हुए कार्य पूर्ण किया गया है। पशुपालन विभाग द्वारा जनपद में कुल 36 अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल में कुल 1913 गोवंश संरक्षित कर उनका भरण पोषण सुनिश्चित किया जा रहा है। मा0 मुख्यमंत्री सहभागिता योजना के अन्तर्गत 423 गोवंश को 224 इच्छुक पशुपालकों की सुपुर्दगी में दिये गये हैं, जिनके भरण पोषण की धनराशि लाभार्थी के खाते में उपलब्ध करायी जा रही है। अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा शादी योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में 287 लाभार्थियों को 57.40 लाख की धनराशि उनके बैंक खाते में अंतरित की गयी है। उ0प्र0 खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 13 आवेदनों को स्वीकृत कर बैंकों में ऋण उपलब्ध कराये जाने हेत प्रेषित किया गया है।
दिव्यागजन सशक्तिकरण विभाग द्वारा दिव्यांग पेंशन योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में कुल 4456 लाभार्थियों को दिव्यांग पेंशन से लाभान्वित किया गया है। कृत्रिम अंग सहायक उपकरण वितरण योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में जनपद स्तर पर कैम्प के माध्यम से कुल 994 उपकरण का वितरण किया गया है। प्रोबेशन द्वारा कन्या सुमंगला योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में 17504 प्राप्त आवेदनों में से 3676 पात्र लाभार्थियों का डाटा अग्रसारित किया जा चुका है। निराश्रित महिला (विधवा) पेंशन योजनान्तर्गत लोक कल्याण शिविर के माध्यम से वित्तीय वर्ष 2019-20 में प्राप्त कुल 10824 आवेदनों को अग्रसारित किया जा चुका है। बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 में अतिकुपोषित कुल 3767 व आंशिक रूप से 14029 बच्चों के पोषण श्रेणी के स्तर में सुधार किया गया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में अब तक 2958 सुपोषण स्वास्थ्य मेला का आयोजन कराया जा चुका है। सेवायोजन विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-20 में दिसम्बर 2019 तक पोर्टल पर कुल 87043 बेरोजगार अभ्यर्थियों का पंजीकरण कराया जा चुका है। राजस्व विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-20 में भूमि सुधार योजना के अन्तर्गत कुल 52 पात्र लाभार्थियों को 4.98 हे0 कृषि पट्टा, कुल 1231 पात्र लाभार्थियों को 12.683 हे0 आवास पट्टा, कुल 129 लाभार्थियों को 102.975 हे0 ताल पोखरों पर मतस्यपालन हेतु पट्टा एवं 39 कुम्हार परिवारों को 1.759 हेक्टेयर पर कुम्हारी कला हेतु पट्टा आवंटित किया गया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में मिशन विरसा मुण्डा के अन्तर्गत अभियान चलाकर कुल 547 व्यक्तियों को आवास की भूमि का विनियमतीकरण एवं 590 लाभार्थियों को आवास आवंटन कराया गया है।
जिलाधिकारी ने बताया कि आपुर्ति विभाग के अन्तर्गत 95 प्रतिशत परिवारों के आधार शुद्धीकरण का कार्य पूर्ण कर लिया गया है तथा 98 प्रतिशत ई-पास मशीन के माध्यम से वितरण का कार्य पारदर्शी तरीके से कराया जा रहा है। नगर विकास द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-20 में स्वच्छ भारत मिशन (नगरी) के अन्तर्गत 11009 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण कार्य कराया गया। इसके अतिरिक्त 739 सामुदायिक शौचालयों का निर्माण कराया गया है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में जनपद के 13 नगर निकायों में अस्थायी गोवंश आश्रय का निर्माण कराया गया है, साथ ही संरक्षित पशुओं के भरण पोषण की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-20 में आयुष्मान भारत प्रधामंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत अब तक कुल 110472 गोल्डेन कार्ड बनाये जा चुके हैं जो लक्ष्य का 78 प्रतिशत है, इसके अन्तर्गत अब तक 2154 लाभार्थी अपना ईलाज सफलतापूर्वक करा चुके हैं।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला, अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, पीडी अभिमन्यु सिंह, डीसी एनआरएलएम बीके मोहन, डीसी मनरेगा बीबी सिंह, डीडी कृषि डाॅ0 आरके मौर्य, उपायुक्त उद्योग प्रवीण कुमार मौर्य, जिला समाज कल्याण अधिकारी राजेश कुमार यादव, अधिशासी अभियन्ता पीडब्ल्यूडी आरके सोनवानी, जिला सूचना अधिकारी डाॅ0 जितेन्द्र प्रताप सिंह सहित संबंधित अधिकारी/कर्मचारी एवं संबंधित लाभार्थीगण उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment