.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

भाजपा कुछ नहीं कर पाई,ध्यान बंटाने को एनआरसी,सीएए व एनपीआर लेकर आई है-अखिलेश यादव,पूर्व मुख्यमंत्री


पूर्व सीएम सांसद अखिलेश यादव ने फूलपुर के आंधीपुर गांव पहुंच पूर्व सांसद स्व. रामकृष्ण यादव के परिजनों को ढांढस बंधाया 

पूर्व राज्यपाल स्व. रामनरेश यादव के घर जाकर परिजनों से हालचाल भी पूछा

अंबारी : आजमगढ़ : सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को फूलपुर तहसील क्षेत्र के आंधीपुर गांव पहुंचकर पूर्व सांसद स्व. रामकृष्ण यादव के परिजनों से मिलकर ढांढस बंधाया और उसके बाद पूर्व राज्यपाल स्व. रामनरेश यादव के घर जाकर परिजनों से हालचाल पूछा। आंधीपुर पहुंचते ही अखिलेश यादव ने सबसे पहले सपा नेता स्व. रामकृष्ण यादव के चित्र पर माल्यर्पण किया। लगभग 20 मिनट तक परिजनों से मुलाकात की। उनके बेटों मनोज यादव, अजय यादव एवं उनकी पत्नी विमला यादव से मुलाकात की। इसके बाद बगल में ही पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व राज्यपाल स्व. रामनरेश यादव के घर पहुंचे जहां उनके छोटे भाई डा. सुरेश यादव से मिले। अखिलेश यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भाजपा से कोई उम्मीद नहीं की जा सकती। भाजपा गाय व अन्य तमाम मुद्दों को लेकर सरकार में आई थी लेकिन अब उसकी भाषा बदल गई है। जो मुल्क जितना पढ़ा-लिखा है वह उतना ही आगे बढ़ा है, इसलिए शिक्षा सबके लिए जरूरी है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हमारे बाबा मुख्यमंत्री ने सभी इंजीनियरों को सांड़ के पीछे लगा दिया है। जब भाजपा कुछ नहीं कर पाई तो जनता का ध्यान बंटाने के लिए एनआरसी, सीएए व एनपीआर जैसे मुद्दे लेकर आई है। 100 नंबर को बदलकर 112 नंबर कर दिया लेकिन टायर नहीं बदला। भाजपा को समाजवादी शब्द से परेशानी है। हमने दो साल में एक्सप्रेस-वे बनाकर दिखा दिया लेकिन ये लोग पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे तीन साल में भी नहीं बना पाए। उन्होंने कहा कि देश को हिदू, मुसलमान सबने मिलकर आजाद कराया है। नौजवानों को नौकरी न देनी पड़े इसलिए तरह-तरह के मुद्दों में जनता को भटकाया जा रहा है। देश और प्रदेश में महिलाओं के प्रति अपराध लगातार बढ़ते जा रहे हैं, बाबा गंगा यात्रा पर गए हैं। सीएए व एनआरसी संविधान की भावना के विपरीत है। पूर्व मंत्री रामआसरे विश्वकर्मा, पूर्व सांसद दरोगा सरोज, संग्राम यादव, सुभाष राय, बेचई सरोज, श्यामबहादुर सिंह यादव, राजेश यादव, डा. सुभाष यादव, देवनाथ यादव, रामबुझारथ यादव आदि थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment