.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : CAB के विरोध,जामिया व एएमयू के छात्रों के समर्थन में सड़क पर उतरे लोग

 
भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच छात्रों एवं युवाओ ने जुलूस निकाल ज्ञापन सौंपा,पुलिस से हुई नोकझोंक 

बसपा विधायक शाहआलम व सपा नेता व पूर्व अध्यक्ष हवलदार यादव समेत अन्य नेताओं ने भी शामिल हो समर्थन किया 
आजमगढ़ : नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में और जामिया यूनिवर्सिटी व एएमयू छात्रों के साथ हुई पुलिसिया बर्बरता के खिलाफ भारी संख्या में छात्रों व युवाओं ने जोरदार प्रदर्शन कर प्रोटेस्ट मार्च निकाला। कुछ इलाकों में व्यापारियों ने समर्थन करते हुए अपनी दुकानें भी बंद रखीं। मार्च के दौरान कई बार विरोध कर रहे युवाओं से पुलिस की नोकझोंक भी हुई । धक्का-मुक्की व तकरार के बीच राष्ट्रपति को संबोधित मांगों का ज्ञापन प्रशासन को सौंपा गया।
गौरतलब है की नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लोगों में असहमति तो थी ही जिसका विरोध छात्रों ने प्रदर्शन कर व्यक्त किया था लेकिन रविवार को दिल्ली के जामिया विश्विद्यालय में हुयी पुलिस कार्रवाई से आक्रोशित छात्रों का सब्र सोमवार को टूट गया और भारी संख्या में छात्र और युवा इसके खिलाफ सड़क पर उतर गए । प्रदर्शनकारी लोगों ज्यादातर शिब्ली व जामेअतुल रशाद मदरसे के छात्र थे। वहीँ नगर के पहाड़पुर, कोट, तकिया आदि इलाकों के व्यापारियों ने अपनी-अपनी दुकानें बंद कर विरोध का समर्थन किया और मार्च में शामिल हो गये। मार्च आवास विकास चौराहे से हर्रा की चुंगी होते हुए शिब्ली कालेज, तकिया होते हुए गुजरा। आवास विकास से जब शांति मार्च आगे बढ़ा तो वहां पुलिस से तकरार होनी शुरू हो गयी। छात्रों के साथ रहे प्रदर्शन कारी भी आंदोलित हो गए और पुलिस को कई बार विरोध का सामना करना पड़ा। इसके बावजूद शांतिमार्च अनवरतचलता रहा। नगर के पहाड़पुर चौराहे पर जब शांति मार्च पहुंचा तो वहां एसडीएम सदर व सीओ सिटी से छात्रों की नोकझोंक हो गयी। पुलिस ने जब कड़ा रूख अख्तियार किया तो शांति मार्च का नेतृत्व कर रहे लोगों के शांत कराने पर युवा प्रदर्शनकारी शांत हुये। इस दौरान इन प्रदर्शनकारियों का समर्थन करने बसपा विधायक शाहआलम, व सपा नेता व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हवलदार यादव, प्रसपा प्रदेश महासचिव  रामदर्शन यादव ने भी समर्थन करते हुए अपनी मौजूदगी दर्ज कराई । शांतिमार्च में उलेमा काउंसिल के नूरुल होदा भी साथ साथ चल रहे थे । इसके बाद राष्ट्रपति को संबोधित मांगों का ज्ञापन डीएम के प्रतिनिधि के तौर पर एसडीएम ने लिया। जिसमें इन लोगों ने नागरिकता संशोधन विधेयक को भारतीय संविधान की मूल भावना के खिलाफ बताते हुए राष्ट्रपति से इसे निरस्त करने की अपील किया है। प्रदर्शन करने वालों में मुख्य रूप से आजमगढ़ के तमाम युवा और वरिष्ठ नागरिक शामिल रहे मुख्य रूप से छात्र नेता मिर्जा शाने आलम,  उलेमा कौंसिल के प्रवक्ता तलहा रशादी, सैयद मोबसशिर, शारिक खान आजमी, सेराज अहमद, शाहनवाज आलम, जावेद आज़मी और भी तमाम लोग उपस्थित रहें। बाद में बड़ी संख्या में पहाड़पुर तिराहे के पास फोर्स तैनात कर दी गई। एसपी सिटी, एडीएम प्रशासन नरेंद्र सिंह , सीओ अकमल खां, इलामारनजी, मौके पर लगातार उपस्थित हो निगरानी और प्रदर्शनकारियों से संवाद करते रहे । एसपी सिटी पंकज पांडे ने बताया कि युवाओं का शांति पूर्ण मार्च निकला था, एहतियातन फोर्स तैनात की गई है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment