.

.

.

.

.

.

,

,
.

आजमगढ़ : महिलाओं व निर्बलों का उत्पीड़न करने वालों पर पुलिस कार्यवाही करेः डीएम

डीएम और एसपी ने की सार्वजनिक भूमि से अतिक्रमण हटाने तथा कानून व्यवस्था हेतु बैठक 

पीस कमेटी के सदस्य में कोई भी आपराधिक प्रकृति का व्यक्ति नही होना चाहिए - डीएम 

आजमगढ़ 04 दिसम्बर-- जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह व पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में सार्वजनिक भूमियों से अतिक्रमण हटाये जाने तथा कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु बैठक सम्पन्न हुई।
कानून व्यवस्था के अन्तर्गत जिलाधिकारी ने समस्त सीओ को निर्देश दिये कि पीस कमेटी की बैठक कराना सुनिश्चित करें तथा पीस कमेटी के सदस्य में कोई भी आपराधिक प्रकृति का व्यक्ति नही होना चाहिए, तथा धार्मिक संगठनों के व्यक्तियों से बातचीत करें। वर्तमान समय में विभिन्न समुदाय के मूर्ति तोड़ने के केस सामने आ रहे हैं, जिस पर जिलाधिकारी ने सीओ तथा एसएचओ को निर्देश दिये कि जिन क्षेत्रों ऐसी घटना हो, उसमें संलिप्त पाये गये दोषी व्यक्ति के ऊपर कड़ी कार्यवाही करते हुए जेल भेजना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिये कि समाज में अच्छा कार्य करें, जिससे समाज में एक अच्छी छवि बनें।  जिलाधिकारी ने पुलिस के सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि महिला उत्पीड़न से संबंधित मामलों में एफआईआर दर्ज करने में किसी भी प्रकार की लापरवाही न करें तथा संबंधित व्यक्ति के दोषी पाये जाने पर कड़ी कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।
पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह ने कहा कि जनपद में 162 संवेदनशील स्थानों को चिन्हित किया गया है, उन्होने पुलिस के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि इन स्थानों पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाना सुनिश्चित करें तथा फुट पेट्रोलिंग करें और उसकी फोटो भी भेजना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही एसपी ने कहा कि सोशल मीडिया की मानिटरिंग करें, इसी के साथ ही डिजिटल वालेन्टियर की बैठक करें।
सार्वजनिक भूमि से अतिक्रमण हटाये जाने के संबंध में जिलाधिकारी ने एसडीएम तथा खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि अतिक्रमण अभियान 05 दिसम्बर से 30 दिसम्बर 2019 तक प्रत्येक गाॅवों में चलाया जायेगा, इसमें एसडीएम/खण्ड विकास अधिकारी, लेखपाल तथा सेक्रेटरी की बैठक कर लें तथा सार्वजनिक उपयोगिता की जमीनों में तालाब, पोखरा, नाला, चकरोड, सेक्टर रोड, खेल का मैदान, चारागाह, नवीन परती, बंजर आदि अतिक्रमण किये गये भूमि को चिन्हिकरण/सीमांकन कर मनरेगा के अन्तर्गत कार्य कराना सुनिश्चित करें, जिससे उक्त समस्याओं का स्थाई हल हो सके।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि अतिक्रमण से संबंधित अभियान चलाये जाने वाले गाॅवों में कहीं भूमि विवाद, तथा आईजीआरएस से संबंधित लम्बित प्रकरण है, शौचालय, आवास आदि का भी निरीक्षण कर निस्तारण करना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने कहा कि भूमि विवाद का निस्तारण एसडीएम तथा सीओ की संयुक्त टीम बनाकर करें। उन्होने कहा कि भूमि विवाद से संबंधित विवादों को हल करने के लिए संबंधित व्यक्तियों को थाना दिवस पर आयोजित कैम्प में बुलाकर भूमि विवाद का निस्तारण करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि मल्टी टास्किंग कार्य करें, जिससे कार्य को सही और जल्दी किया जा सके।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला, मुख्य राजस्व अधिकारी हरी शंकर, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 गुरू प्रसाद, अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, एसपी सिटी पंकज कुमार पाण्डेय, एसपी ट्रैफिक तारिक मोहम्मद, एएसपी सिटी ईला मारन, समस्त एसडीएम, सीओ, एसओ, बीडीओ उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment