.

.

.

.

,

,
.

आजमगढ़ : सरहद पर शहीद हुआ सैनिक भारतीयों के दिलों में करता है राज : दारा सिंह चौहान

 

सैनिक कभी मरता नहीं वह अमरत्व को प्राप्त करता है : नागेंद्र प्रताप सिंह, जिलाधिकारी 

अमर शहीद भगवती सिंह की प्रतिमा अनावरण व श्रद्धांजलि सभा में उमड़ा लोगों का हुजूम
बुढ़नपुर/आजमगढ़ । अतरौलिया क्षेत्र स्थित मदिया पार में भारत चीन युद्ध के दौरान 1962 में शहीद हुए अमर शहीद भगवती प्रसाद सिंह की याद में शहीद मेला व श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया । इस दौरान शहीद भगवती प्रसाद सिंह की मूर्ति का अनावरण उत्तर प्रदेश सरकार के वन मंत्री दारा चौहान ने किया । इस दौरान मंत्री श्री चौहान व जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह संग पुलिस अधीक्षक प्रोफेसर त्रिवेणी सिंह ने शहीद स्थल पर शहीद भगवती सिंह की याद में पौधरोपण किया । वन मंत्री दारा चौहान ने कहा की देश की रक्षा में शहीद हुए जवान कभी मरते नहीं है । शहीद जवान हमेशा 130 करोड़ हिंदुस्तानियों के दिलों में राज करते हैं । जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि शहीद भगवती प्रसाद सिंह के उपवन के विस्तार के लिए सरकार की तरफ से जितना भी सहयोग हो सकेगा दिलाने का प्रयास करूंगा । जिलाधिकारी ने कहा कि शहीद की आत्मा अमरत्व को प्राप्त होती है । शहीद को मृतक या स्वर्गीय नहीं शहीद कहा जाता है । जिलाधिकारी नेे कहा सैनिक देश की रक्षा के लिए दुर्गम जगहों पर रहते हैं जहां भीषण ठंड पड़ती है । कहा कि अमर शहीद भगवती प्रसाद सिंह के परिवार को मैं नमन करता हूं कि इनके घर में अमर शहीद भगवती प्रसाद सिंह ने पुत्र के रूप मेंं जन्म लेकर भारत माता की सेवा किया ।
इस दौरान वन मंत्री दारा चौहान व जिलाधिकारी द्वारा अमर शहीद भगवती प्रसाद सिंह की पत्नी ललिता देवी, शहीद की पुत्री सुदामा देवी, शहीद के दामाद डॉ राजेंद्र प्रसाद सिंह को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया ।
इस दौरान भाजपा जिला अध्यक्ष जयनाथ सिंह, भाजपा नेता अरविंद जायसवाल, भाजपा नेता प्रमोद सिंह, फूलचंद यादव, दौलत सिंह, प्रहलाद सिंह, विश्वजीत उर्फ मुन्नू सिंह सिंह सहित हजारों की संख्या में लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित किया । इस दौरान रंगकर्मी सुनील कुमार विश्वकर्मा व उनकी टीम ने रंगारंग कार्यक्रम शहीद की याद में प्रस्तुत किया ।

जिलाधिकारी की बात सुन श्रद्धांजलि सभा के दौरान भावुक हुआ परिवारबुढ़नपुर । 1962 में भारत चीन युद्ध के दौरान चीनी सैनिकों के दांत खट्टा करने वाले अमर शहीद भगवती प्रसाद प्रसाद सिंह की याद में उनकी प्रतिमा के अनावरण के दौरान शहीद की पत्नी ललिता देवी पुत्री सुदामा सिंह उनके दामाद डॉ भगवती प्रसाद सिंह उस दौरान भावुक हो गए जब जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि शहीद का परिवार धन्य है जिसने भगवती प्रसाद सिंह ऐसे पुत्र को जन्म देकर भारत की रक्षा के लिए युद्ध के मैदान में भेजा था । जिलाधिकारी की बात सुनकर शहीद परिवारों की आंखें नम हो गई और वातावरण गमगीन हो गया था । शहीद के दामाद डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि सरकार और जिलाधिकारी महोदय के सहयोग से आज जो मूर्ति का अनावरण हुआ है इसमें हमारे ससुर शहीद भगवती प्रसाद सिंह की आत्मा काफी खुश हुई होगी । डॉ राजेंद्र प्रसाद सिंह ने जिलाधिकारी, मंत्री दारा चौहान, पुलिस अधीक्षक प्रोफेसर त्रिवेणी सिंह व क्षेत्रीय जनता के प्रति आभार व्यक्त किया जिन्होंने शहीद की प्रतिमा के अनावरण के समय उपस्थित रहे ।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment