.

.

.

.

.

.

,

,
.

आजमगढ़: देवारा जदीद में आजादी के बाद से आज तक चकबंदी नहीं हुई, डीएम को सौंपा मांगो का पत्रक

देवारा विकास सेवा समिति ने जिलाधिकारी से मिल कर गिनाई क्षेत्र की आवश्यकताएं  

आजमगढ़: देवारा क्षेत्र के विकास के लिए भले ही खादी दम भरती हो लेकिन असल सच्चाई यह है की देवारा के एक ग्राम पंचायत में आजादी के बाद से आज तक चकबंदी भी नहीं हो सकी है। सोमवार को इसी को लेकर देवारा विकास सेवा समिति के अध्यक्ष रामकेदार यादव ने जिलाधिकारी को पत्रक सौंपकर सगड़ी अंतर्गत ग्राम पंचायत देवारा जदीद में चकबंदी कराये जाने की मांग उठायी। बता दें कि देवारा क्षेत्र के विकास के लिए दस मांगों को लेकर समिति निरंतर मुखर है। जिस पर डीएम ने समिति को आश्वासन दिया है कि आवागमन, अस्पताल, महाविद्यालय, दुग्ध डेयरी, बैंक शाखा आदि दस सूत्री मांगों पर भी कार्यवाही हो रही है जल्द ही देवारावासियों को लाभ मिलने लगेगा।
जिलाधिकारी को सौंपे गये ज्ञापन में देवारा विकास सेवा समित के अध्यक्ष रामकेदार यादव ने बताया कि विडम्बना है कि जनपद के तहसील सगड़ी अंतर्गत ग्राम पंचायत देवारा जदीद में आजादी के बाद से आज तक चकबंदी नहीं हो सकी है। चकबंदी नहीं होने के कारण किसानों के छोटे-छोटे खेतों के हिस्से इधर-उधर बिखरे पड़े है। जिसके परिणामस्वरूप किसानों को कृषि कार्य के लिए अधिक खर्च उठाना पड़ रहा है।
श्री यादव ने डीएम को आगे बताया कि देवारा जदीद में चकबंदी हो जाती तो किसानों के खेत एक ही स्थान पर आ जायेंगे जिसके कारण खेती कार्य में लागत कम आयेगी और किसानों की आय दुगुनी हो सकती है। साथ ही क्षेत्र के विकास को भी गति मिल जाती। इसके अलावा चिकनहवां पुल हेतु जिला प्रशासन द्वारा धनराशि स्वीकृत किये जाने को सकारात्मक कदम बताया गया वहीं अन्य मांग बिन्दुओं पर कार्य करने के लिए चर्चा किया गया। इस अवसर पर वीरेन्द्र यादव, रामदुलार यादव, रणधीर यादव आदि मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment