.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मुबारकपुर : पलट गई डबल मर्डर की कहानी,सौतेले पिता ने वारदात को दिया था अंजाम

पूर्व में नामजद युवक मृतक के साथ करता था मोबाइल चोरी, हत्या में शामिल नहीं चोरी में गया जेल, मृतक की माँ ने किया था पुलिस को गुमराह   

आजमगढ़ : मुबारकपुर थाना क्षेत्र के मदारपुर में शुक्रवार की रात हुई पिता-पुत्री की हत्या में सौतेला पिता ही गुनाहगार निकला। सम्पति में हिस्सा मांगने पर सौतेले पिता ने फावड़े से पास में सोते समय हत्या कर दी थी। गंभीर रूप से घायल मृतक की पत्नी का उपचार चल रहा है। पुलिस ने आरोपी सौतेले पिता को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह ने बताया कि मृतक की मां आयशा खातून ने दूसरी शादी की थी। पहले पति के बेटे शाकिर व दूसरे पति वाराणसी जनपद के लोहता थाना क्षेत्र के महमूदपुर निवासी रमजान अली के साथ किराए के मकान में मदारपुर में रहती थी। शाकिर अपने सौतेले पिता से वाराणसी की भूमि में हिस्सा मांग रहा था। हिस्सा न देने पर कई बार पिता को मारापीटा था। सौतेले पिता ने बताया कि शाकिर गलत संगति में पड़ने के कारण चोरी व नशा करता था। संपत्ति में हिस्सा ने देने पर पूरे चोरी आदि के मामले में पकडे जाने पर पूरे परिवार को फंसाने की धमकी देता था। जिससे उसने शुक्रवार की रात सोते समय फावड़े से हमला कर सौतेले पुत्र शकिर उसकी पांच मांह की बेटी समीरा की हत्या कर दी। चोट लगने से शाकिर की पत्नी जैनब की हालत गंभीर है निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी सौतेले पिता को मुबाकरपुर थाना प्रभारी ने सोमवार की सुबह बवाली मोड़ से गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि घटना को दूसरी तरफ मोड़ने के लिए मृतक की मां आयशा खातून ने गलत तहरीर दी थी। उसकी तहरीर पर गिरफ्तार फरहान के पास से चोरी की मोबाइल बरामद हुई थी, हालांकि की पुलिस की गहन विवेचना में यह बात सामने आयी की मृतक और फरहान दोनों मिल कर मोबाइल चोरी करते थे । हत्याकांड में फरहान का कोई हाथ नहीं था लेकिन मृतक की माँ ने पुलिस को गुमराह करने को उसका नाम लिया था।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment