.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मऊ सिलेंडर हादसाः घायल युवती ने बीएचयू में तोड़ा दम, 15 हुई मरने वालों की संख्या

मृतक ममता की दो बहने अभी भी जिदंगी और मौत के बीच अस्पताल में जूझ रही हैं

आजमगढ़ : मऊ के मुहम्मदाबाद गोहना के वलीदपुर नगर के बिचलापुरा मुहल्ले में सोमवार को रसोई गैस सिलिंडर विस्फोट में घायल 18 वर्षीय ममता विश्वकर्मा की गुरुवार की सुबह मौत हो गई। ममता का इलाज बीएचयू में चल रहा था। हादसे में मरने वालों की संख्या 15 हो गई है।
ममता की मौत की सूचना मिलते ही उसके घर पर कोहराम मच गया। साथ ही लोगों की भारी भीड़ उसके घर पर जुट गई। सोमवार की सुबह बिचलापुरा मोहल्ला निवासी रीता पत्नी स्व. छोटू विश्वकर्मा के यहां चाय बनाने के दौरान गैस लीकेज होने से हुए विस्फोट में उसकी बेटी ममता गंभीर रूप से घायल हो गई थीं। गुरुवार की सुबह चार दिनों से मौत से जूझ रही ममता ने अपना दम तोड़ दिया।
ममता की मौत से वलीदपुर सिलिंडर कांड में मृतकों की संख्या 15 पहुंच गई। हादसे से बुरी तरह मानसिक रूप से तहस-नहस हो चुके बिचलापुरा के लोगो में एक और मौत की जानकारी ने चार दिन पुराने हादसे को जीवित कर दिया। वहीं मृतक ममता की दो बहने अभी भी जिदंगी और मौत के बीच अस्पताल में जूझ रही हैं। बताते चले कि ममता को लेकर पांच बहनें थी। इन पांचों में से अभी किसी भी बहन की शादी नही हुई थी। हादसे में तीन बहनें संजना, ममता एव मोना घायल थी।
हादसे में अब तक ज्यादातर उन लोगों की मोत हुई थी जो सिलेंडर विस्फोट की आवाज़ सुनकर घर वालों को बचाने पहुंचे थे। सोमवार की सुबह जैसे विस्फोट हुआ लोग भागते हुए वहां तक पहुंचे। लोग अभी मकान के नीचे खड़े होकर कुछ समझने की स्थिति में आये कि मकान भरभराकर इन लोगों के ऊपर गिर गया। इसके मलबे में लोग दब गए। चहुंओर चिख पुकार मच गई।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment