.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

पं नेहरू के दबाव के बाद भी डा. अम्बेडकर ने धारा 370/35ए को देश के लिए घातक बताया था- डा रमापति राम त्रिपाठी


प्रधानमंत्री व गृहमंत्री ने 70 साल के कलंक को समाप्त कर एक देश एक संविधान और एक निशान लागू कर दिया - डा रमापति राम त्रिपाठी, सांसद व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा 

आजमगढ़: आजादी के बाद कश्मीर नीति पर दो धाराएं चल रही थी। एक कांग्रेस के नेता तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और शेख अब्दुल्लाह द्वारा लागू किया गया धारा 370 और 35ए थी। दूसरी तरफ मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष स्व. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने एक देश एक संविधान और एक निशान का नारा देते हुए अपना बलिदान दिया। यह विचार व्यक्त करते हुए भारतीय जनता पार्टी आजमगढ़ द्वारा 30 सितम्बर को भाजपा कार्यालय पर आयोजित राष्ट्रीय एकता अभियान के अंतर्गत धारा 370/35ए पर एक विचार गोष्ठी में बोलते हुए मुख्य अतिथि डा रमापति राम त्रिपाठी, सांसद व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने कहाकि पंडित नेहरू के दबाव के बाद भी तत्कालीन कानून मंत्री डा. भीम राव अम्बेडकर ने धारा 370/35ए पर ड्राफ्ट बनाने से मना करते हुए कहाकि यह देश के लिए घातक है। जिसको बाद में श्री अयंगर द्वारा बनवाया गया। यह कानून बनाने के लिए कैबिनेट मीटिंग का बहिष्कार डा अम्बेडकर ने किया। डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने संविधान सभा की बैठक में इसका विरोध करते हुए मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। श्री त्रिपाठी ने कहाकि राष्ट्रीय स्वयं सेवक के सहयोग से जनसंघ की स्थापना डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने किया। सहयोग में उनको पंडित दीन दयाल उपाध्याय और अटल बिहारी वाजेपयी सहित कई साथी मिले। जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी की 70 साल की यात्रा में धारा 370 हटाना पार्टी का मुख्य एजेंडा रहा। जिसको प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह ने इस 70 साल के कलंक का समाप्त करते हुए एक देश एक संविधान और एक निशान लागू कर दिया।
इस अभियान के क्षेत्रीय संयोजक व पूर्व मंत्री राजेश त्रिपाठी ने कहाकि धारा 370/35ए कश्मीर की महिलाओं और दलितों के साथ भेदभाव करता था इसलिए हटाना जरूरी हो गया था। अन्य वक्ताओं में विधान परिषद सदस्य जशवंत सिंह, हरेन्द्र सिंह, प्रहलाद श्रीवास्तव एड., सच्चिदानन्द सिंह, हरिश तिवारी, ऋषिकांत राय आदि ने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा जिलाध्यक्ष जयनाथ सिंह ने धन्यवाद देते हुए 2 अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर प्रातः 8 बजे गांधी जी की प्रतिमा से प्लास्टिक मुक्त अभियान में शामिल होने की अपील की। संचालन राष्ट्रीय एकता अभियान के जिला संयोजक सुनील राय ने किया। इस अवसर पर एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया।
कार्यक्रम में रामाधीन सिंह, डा श्याम नरायन सिंह, श्रीकृष्ण पाल, विनोद राय, लक्ष्मण मौर्य सहजानन्द राय, प्रेमप्रकाश राय, हरिवंश मिश्र, चंडिकानन्दन सिंह, विनोद उपाध्याय, प्रमोद राय एड., पंकज कौशिक, विनय गुप्ता, डा पूनम सिंह आदि मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment