.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

अवरोधों के कारण वाराणसी-आजमगढ़ तक निर्माणाधीन एनएच-233 रफ़्तार है सुस्त

कंजहित बाजार से बूढ़नपुर तक 80 किमी सड़क का निर्माण केवल 60 प्रतिशत हो सका  है 

आजमगढ़ : वाराणसी-आजमगढ़ तक निर्माणाधीन एनएच-233 की रफ्तार बढ़ नहीं रही है। प्रगति का फीसद भी कम है। इतना ही नहीं निर्माण में अनगिनत अवरोध हैं, जो कोढ़ में खाज का काम रहे हैं। ऐसे में शासन की मंशानुसार बेहतर आवागमन सुलभ नहीं हो रहा है।
कार्यदायी संस्था एनएचआइ द्वारा वाराणसी से आजमगढ़ होते हुए लुंबिनी तक एनएच-233 का निर्माण कराया जा रहा है। जिले में दो कार्यदायी संस्थाओं द्वारा सड़क निर्माण कराया जाना था। इसमें बूढ़नपुर से आंबेडकरनगर सीमा तक लगभग 40 किमी का निर्माण संबंधित कार्यदायी संस्था द्वारा तीन माह पूर्व ही पूरा करा दिया गया, जबकि वाराणसी सीमा पर कंजहित बाजार से बूढ़नपुर तक 80 किमी सड़क का निर्माण गायत्री इंफ्राटेक द्वारा कराया जा रहा है। कार्य की प्रगति इतनी धीमी है कि अभी तक 60 फीसद ही कार्य पूरा हो सका है। कार्यदायी संस्था को एग्रीमेंट के अनुसार चार वर्ष तक मेंटेनेंस भी कराना है, लेकिन जगह-जगह नई सड़क की मरम्मत भी नहीं कराई जा रही है। इससे आवागमन प्रभावित हो रहा है। 80 किमी सड़क में लगभग 100 स्थानों पर विभिन्न कारणों से अवरोध है। इसमें मुआवजा भुगतान की मांग, घोषित अभिलेख न देना, कई प्रकरण न्यायालय में हैं तो कई भुगतान को लेकर अपना मकान या अन्य निर्माण तोड़ने नहीं दे रहे हैं। मामले में हरीशंकर, मुख्य राजस्व अधिकारी ने बताया कार्यदायी संस्था द्वारा एनएच-233 के धीमी निर्माण कार्य के संबंध में जिलाधिकारी की ओर से एनएचआइ के प्रोजेक्ट मैनेजर को पहले ही पत्र लिखा जा चुका है। रही बात विभिन्न कारणों से कुछ स्थानों पर विवाद की तो उसका निस्तारण युद्धस्तर पर कराया जा रहा है। इस कार्य में प्रशासन की तरफ से लगातार स्थलीय निरीक्षण कर कार्रवाई की जा रही है। 


Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment