.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

बारिश के बावजूद सड़क पर उतरे लोग, एनजीटी के खिलाफ जुलूस निकाला

एडीए द्वारा एनजीटी  के नाम पर शहर के वैभव तथा उसकी पहचान को समाप्त करने तथा गरीबों के आवास उजाड़ने  का आरोप लगा विरोध किया

आजमगढ़ : वनीकरण/ग्रीनलैंड एनजीटी मुक्ति अभियान मोर्चा ने गुरुवार को अध्यक्ष रामविलास साहू के नेतृत्व में बारिश के बावजूद लोग सड़क पर उतर आए और एनजीटी के खिलाफ जुलूस निकाला। कलेक्ट्रेट स्थित रिक्शा स्टैंड पर जमकर नारेबाजी की। इसके बाद मुख्यमंत्री को संबोधित अपने पांच सूत्रीय मांगों का ज्ञापन डीएम को सौंपा। इसके बाद आजमगढ़ विकास प्राधिकरण द्वारा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के नाम पर शहर के वैभव तथा उसकी पहचान को समाप्त करने तथा गरीबों के आवास उजाड़ने के दुस्साहसिक कदम का विरोध किया। अध्यक्ष साहू ने कहाकि आजमगढ़ शहर 1665 ई. में तत्कालीन राजा आजम पुत्र विक्रमजीत के द्वारा बसाया गया था। इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आजमगढ़ शहर तीन तरफ से तमसा नदी के तट पर बस हुआ है। इस प्रकार स्वाभाविक है कि आजमगढ़ शहर की जो भौगोलिक स्थिति है उसमें लाखों लोगों के मकान/आवास तमसा नदी के तट पर या बीचों बीच से मापा जाए तो 75 मीटर के दायरे में आ जाएगा। इस प्रकार शहर की बहुत बड़ी आबादी प्रभावित होगी। आजमगढ़ शहर की जनसंख्या 2011 की जनगणना के अनुसार 110983 है। इतनी बड़ी आबादी जो 75 मीटर के दायरे में लायी जा रही है उससे पूरा शहर उजड़ जाएगा। संरक्षक व इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष जमील आजमी ने कहा कि आजमगढ़ विकास प्राधिकरण गलत तरीके से एनजीटी का हवाला देकर ध्वस्तीकरण का कार्य करने जा रहा है। कहाकि एनजीटी के जिस आदेश पर आजमगढ़ प्रशासन ध्वस्तीकरण करने का बात कर रहा है वह मात्र एक रिपोर्ट है, कोई एनजीटी का आदेश नहीं है। प्रशासन द्वारा ये जो 75 मीटर का फार्मूला लाया गया है वह न तो एनजीटी के प्राविधान में दिया गया है और न ही वेटलैंड तथा भारत सरकार द्वारा जारी भारत का राजपत्र (गजट) 18 जनवरी 2019 में दिया गया है। अफाक करीम ने कहा कि शहर के अंदर तथाकथित ग्रीनलैंड यदि है तो उसे आवासीय क्षेत्र घोषित करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से अनुरोध करें क्योंकि ऐसा नही करने पर शहर की बड़ी आबादी के लिए आवासीय संकट पैदा हो जाएगा। इस अवसर पर सपा के पूर्व मंत्री व विधायक दुर्गा प्रसाद यादव, लियाकत अली, अभिषेक पांडेय, अनूप चैधरी, विनोद गुप्ता, नीरज सिंह, रूपेश विश्वकर्मा, मुन्नी लाल यादव, पियूष पाल, केदार निषाद, श्रीराम गुप्ता, छांगुर पांडेय, मो राजू, नबीउल्ला सिद्दीकी, सतिराम पाल, राजकुमार मौर्य, राजकुमार चैहान, योगेन्द्र, प्रमिला, आभा गुप्ता, छोटेलाल आदि उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment