.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

गंभीरपुर : अवैध सम्बन्ध के चलते हुई थी एक साल पूर्व बनबिहारी मिश्रा की हत्या ,नामजद आरोपी दोषमुक्त

मृतक के भाई ने गांव में ही अपने पुराने दुश्मनों पर हत्या का मुकदमा दर्ज करा कर उन्हें काफी परेशान किया,फिर गवाही से बचने लगा था 

पुलिस विवेचना के दौरान हत्या में नामजद आरोपी नहीं,बल्कि पड़ोसी का हाथ होना पाया गया

आजमगढ़ : गंभीरपुर थाने के रोहुआ मुस्तफाबाद में एक साल पूर्व बनबिहारी मिश्रा की आशनाई के चलते गोली मार कर हत्या की गई थी। पड़ोसी की पत्नी से बनबिहारी मिश्रा का अवैध संबंध था। इसकी जानकारी होने पर पड़ोसी ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। जबकि मृतक के भाई ने गांव में ही अपने दुश्मनों पर हत्या का मुकदमा दर्ज करा कर पुलिस के सामने गवाही देने के बजाय घर से फरार हो गया। विवेचना के दौरान हत्या में नामजद आरोपी नहीं,बल्कि पड़ोसी का हाथ होना पाया गया। शनिवार को पुलिस ने हत्यारोपी पड़ोसी धमेंर्द्र मिश्रा की गिरफ्तारी के साथ ही घटना का खुलासा किया।
गंभीरपुर थाने के खरैला गांव निवासी बनबिहारी मिश्रा की मुस्तफाबाद गांव के पास 10 जून 2018 की रात में गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। इस पर मृतक के बड़े भाई महेंद्र मिश्रा ने अपने गांव के ही चार ऐसे व्यक्तियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था,जिनका मृतक के परिवार से पुरानी रंजिश को लेकर मुकदमा चल रहा था।
बनबिहारी हत्याकांड में नामजद मुकदमा दर्ज होने पर विवेचना के दौरान मृतक का भाई महेंद्र मिश्रा पुलिस के सामने गवाही देने से बचने लगा और घर से फरार हो गया। साक्ष्य संकलन व विवेचना के दौरान हत्या में गांव के धमेंद्र मिश्रा का नाम प्रकाश में आया। इस पर विवेचना को क्राइम ब्रान्च प्रभारी संजय सिंह को स्थानान्तरित कर घटना में शामिल अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम जुट गई थी। इस बीच शनिवार को सुबह मुखबिर से सूचना मिली कि अभियुक्त धर्मेन्द्र मिश्रा सैनिक ढाबा निकट फरिहा तिराहा पर मौजूद है । यहां से भागने की फिराक में है । इस सूचना पर क्राइम ब्रांच के साथ गंभीरपुर थाने की पुलिस ने अभियुक्त धर्मेन्द्र मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से एक तमंचा, एक जिन्दा कारतूस बरामद किया गया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment