.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मऊ हत्याकाण्ड के पीड़ित परिवार से मिलीं मंडलायुक्त , सहायता एवं सुरक्षा का दिया भरोसा

गांव में सुरक्षा के पुख्ता इन्तेजाम हों तथा इस काण्ड के आरोपियों पर सख्त कार्यवाही होनी चाहिए- कनक त्रिपाठी, मंडलायुक्त 

आज़मगढ़ 21 सितम्बर -- मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने जनपद मऊ के थाना रानीपुर के अन्तर्गत ग्राम हुड़रहा में भूमि विवाद के चलते 20/21 सितम्बर की मध्य रात्रि में हुए तिहरे हत्याकाण्ड में पीड़ित परिवार के सदस्योें से मिलीं। उन्होंने शोकसंतप्त परिवार के प्रति अपने संवेदनायें व्यक्त की और उन्हें ढांढस बॅंधाया। उन्होंने पीड़ित परिवार को अनुमन्य सहायता राशि तथा आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने का भी भरोसा दिलाया। इस दौरान उन्होंने घटनास्थल के साथ ही विवादित भूमि जो बहुत ही कम थी को भी मौके पर देखा। मण्डलायुक्त ने कहा कि इतनी थोड़ी सी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने के लिए किसी गरीब परिवार के दो सदस्यों की हत्या कर दिया जाना अत्यन्त निन्दनीय एवं घृणित है। ज्ञातव्य हो कि उक्त गांव में देवकी चैहान (72 वर्ष) अपने परिवार के साथ मड़ई झोंपड़ी डालकर गुजर बसर कर रहा है। उसकी मड़ई के पास कुछ फुट के रास्ते बाद उनकी बंसवाड़ी भी है। रास्ते और बंसवाड़ी को गाॅंव का ही टुनटुन चैहान पुत्र रामअवध चैहान अपनी भूमि बताते हुए उस पर खॅूंटी गाड़कर अपनी बकरी आदि बाॅंधने लगा। गाॅंव के पूर्व प्रधान एवं अन्य ग्रामवासियों ने बताया यह जमीन देवकी चैहान की ही है, परन्तु दबंगई के बल पर उक्त टुनटुन चैहान ने इस पर जबरदस्ती कब्जा कर रखा है, जिसका कई बार विरोध भी किया गया, परन्तु टुनटुन द्वारा जमीन खाली नहीं की गयी, बल्कि देवकी चैहान के परिवार को मारने आदि की धमकी भी देता रहा। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी को स्थानीय लोगों ने टुनटुन चैहान के बारे में बताया कि वह मुम्बई (महाराष्ट्र) का सजायाफ्ता अपराधी था तथा अपनी आपराधिक प्रवृत्ति के कारण अक्सर देवकी चैहान के परिवार को नुक्सान पहुॅंचाने की धमकी दिया करता था। परिवार के लोगों ने बताया कि 20/21 सितम्बर की मध्य रात्रि लगभग 11.45 बजे उक्त चैहान अपने अन्य साथियों, जिनके चेहरे गमछे से ढके हुए थे, के साथ आया और घर के बाहर सो रहे देवकी नन्दन चैहान एवं उसके पुत्र शिवचन्द चैहान (40 वर्ष), पुत्र बधु रीता (37 वर्ष), अजीत पुत्र शिवचन्द (18 वर्ष) पर गड़ासा, चाकू आदि से हमला कर दिया, जिसमें शिवचन्द एवं उसकी पत्नी रीता की गला रेटकर हत्या कर दी गयी, जबकि देवकी एवं अजीत बुरी तरह घायल हो गये। दोनों घायलों के शोर मचाने पर शिवचन्द के लड़के रूपेश और राज भी वहाॅं पहुंचे। इस दौरान हमलावरों ने इन पर हमला किया। मण्डलायुक्त ने स्थानीय लोगों ने यह भी बताया कि इस खूनी संघर्ष का मुख्य अपराधी टुनटुन चैहान (40 वर्ष) भी अपने ही साथियों के हाथों मारा गया, जबकि उसके अन्य साथी भागने में सफल रहे। इस खून खराबे में देवकी चैहान, अजीत एवं राज बुरी तरह घायल हो गये, जो अस्पताल में हैं।
मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने घायलों की सुरक्षा पर तैनात सिपाही से फोन पर घायलों के बारे में पूछा, जिस पर अवगत कराया गया है कि हालत में सुधार है। उन्होंने घटनास्थल पर उपजिलाधिकारी मुहम्मदाबाद को निर्देश दिया कि देवकी चैहान का परिवार अत्यन्त गरीब है तथा आवासीय भूमि भी इनके पास नाममात्र है, गाॅंव में इसके लिए पट्टा हेतु आवास स्थल का तत्काल चयन कर इस परिवार को उपलब्ध कराई जाय। इसके आलवा इस परिवार के लिए जो भी अनुमन्य सुविधायें हैं वह भी यथाशीघ्र उपलब्ध कराई जाय। उन्होंने उपस्थित पुलिस के अधिकारियों को भी निर्देशित किया गांव में सुरक्षा के पुख्ता इन्तेजाम किये जायें तथा इस हत्या काण्ड के मुल्जिमों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही होनी चाहिए।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक मऊ अनुराग आर्या, उपजिलाधिकारी मुहम्मदाबाद विजय कुमार मिश्र, तहसीलदार संजीव कुमार, सीओ मुहम्मदाबाद, थानाध्यक्ष रानीपुर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment