.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

लालगंज: मस्जिद यूसुफ के उद्घाटन के अवसर पर जलसे का आयोजन किया गया

इस धरती पर सबसे पवित्र स्थल वह है जहां इबादत की जाए  

लालगंज :आजमगढ़ (मकसूद आज़मी): बसही अकबापुलर में शुक्रवार की रात मौलाना अब्दुर्रहमान उस्ताद जामिया हुसैनिया शाही मस्जिद लाल दरवाजा जौनपुर की अध्यक्षता तथा मुफ्ती सुफियान अहमद दौना की सरपरस्ती में मस्जिद यूसुफ के उद्घाटन अवसर पर एक जलसे का आयोजन किया गया। इस अवसर पर वसीम अहमद शेरवानी उस्ताद जामिया हुसैनिया लाल दरवाजा जौनपुर ने कहा इस धरती पर सबसे पवित्र स्थल वह है जहां इबादत की जाए। यह बलाओं तथा आफत से सुरक्षा का एक महत्वपूर्ण स्थान हैं। मौलाना आसिफ मंगरावां ने कहा मस्जिद निर्माण से अधिक महत्वपूर्ण यह है कि इसकी आबादी की चिंता की जाए। उन्होंने कहा उस्मान गनी नामक सहाबी ने मस्जिद नबवी को जब अपने हाथों पक्का बनवाने का कार्य आरंभ किया तो उसमें दुनिया भर से सबसे अच्छी चीजें मंगवा कर लगवाईं इसमें भारत से सागौन की लकड़ी भी मंगाई गई थी। उन्होंने कहा 1400 वर्ष पूर्व के सहाबा भी गरीब नहीं थे कुछ ऐसे व्यापारी थे जिनके ऊंटों की कतारें सऊदी अरब से लेकर मुल्क शाम तक नहीं टूटती थीं अर्थात वह बहुत बड़े व्यापारी थे। उन्होंने कहा मालदारी अल्लाह की दी हुई नेमत है बशर्ते कि वह नेक कार्य में खर्च हो। उन्होंने कहा बच्चे कच्चे मिट्टी तथा कोरे कागज के समान होते हैं उन्हें आरंभ से ही अच्छाई की तरफ ले जाना चाहिए। कारी महमूद बलियावी उस्ताद जामिया हुसैनिया लाल दरवाजा जौनपुर ने मुसलमानों से अपना किरदार पेश करने की अपील करते हुए नात शरीफ प्रस्तुत की। उन्होंने कहा अर्श का पाया हिला देती है मजलूम की आह, जुल्म का बदला हकीकत में खुदा लेता है। इस जमीं पर कभी महमूद ना तन कर चलना, यह तकब्बुर है जो इंसान को खा लेता है।
इससे पूर्व जलसे का आरंभ कारी आजाद आलम की तिलावत ए कुरान से हुआ। पश्चात कारी समीउल्लाह दौना ने नात शरीफ पेश की। मंच पर सऊदी अरब से जलसा के लिए विशेष रूप से आए फैसल निदा मोहम्मद अल मतीरी, हाफिज मुफीद अहमद मगरावां, जफरुल इस्लाम, हाजी मोहम्मद यूसुफ, शहाबुद्दीन शब्बू, हाजी इसरार अहमद, हाफिज अकीस अहमद, हाफिज लईक अहमद, मुफ्ती मोहम्मद जासिम, डॉ एजाज अहमद कुरियावां, शमीम अहमद चुन्नू, सईद साद बखरा आदि मौजूद रहे। संचालन मौलाना सलमान अहमद और हाफिज असजद ने किया। मुफ्ती नूरुद्दीन बखरा की दुआ पर जलसे का समापन हुआ। हाजी मोहम्मद यूसुफ के प्रतिनिधि शाह आजम आज़मी ने सभी आगंतुकों का आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment