.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

निजामाबाद : बीते 10 दिनों से टूटा हुआ है नहर का तटबंध, 500 बीघा फसल पूरी तरह से डूब गयी

अधिकारियों से शिकायत करने के बावजूद कोई कार्रवाई न होने से किसानों में आक्रोश 

आजमगढ़ : निजामाबाद तहसील के फरिहां क्षेत्र से गुजरी शारदा सहायक खण्ड-32 नहर का तटबंध बीते 10 दिनों से टूटा हुआ है। नहर के पानी से सैकड़ों किसानों की लगभग 500 बीघा फसल पूरी तरह से डूब गयी है। नहर विभाग के अधिकारियों से शिकायत करने के बावजूद कोई कार्रवाई न होने से किसानों में आक्रोश है। वे अपनी फसल का मुआवजा मांग रहे हैं।
शारदा सहायक खण्ड-32 नहर फरिहां क्षेत्र से गुजरी हुई है जिसके माध्यम से क्षेत्र के हजारों किसान अपने फसलों की सिंचाई करते हैं। विगत दस दिनों पूर्व नहर में एकाएक पानी छोड़ा गया तो रात में किसी समय पानी के अत्यधिक दबाव के कारण नहर का तटबंध टूट गया। देखते ही देखते पानी फरिहां, मोहिउद्दीनपुर, उसरैना, पुरवा सहित आधा दर्जन गांवों के किसानों के खेतों में फैलने लगा। इससे किसानों के खेतों में बोया गया गन्ना आदि फसल पूरी तरह से डूब गयी। जब किसानों को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने नहर विभाग को सूचना दी लेकिन अब तक नहर तटबंध बांधने का प्रयास नहीं किया गया। किसान राजेन्द्र, बालगोविन्द यादव, जावेद आलम, शाहआलम, नईम शेख, बिकानू राम ने कहा कि सालभर से कुलाबा (सैफन) न होने से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। नहर में पानी तो है लेकिन सैफन न होने से पानी का उपयोग हम लोग नहीं कर पा रहे हैं। जिसे पानी की आवश्यकता होती है, वह मजबूर होकर नहर का तटबंध तोड़ने के लिए विवश हो जाते हैं। अगर नहर में सैफन लगाया जाता तो किसान अपने फसलों की आराम से सिंचाई कर लेते। इस संबंध में नहर विभाग के जेई अनिल कुमार ने कहा कि अभी हमारे पास बजट नहीं है। बजट आयेगा तो सैफन लगवा दिया जायेगा।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment