.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

कंधरापुर : पानी बहाने के विवाद में जमकर मारपीट,महिला की मौत,आधा दर्जन घायल,चक्का जाम


आजमगढ़ : कंधरापुर थाना क्षेत्र के ग्यासपुर गांव में नाबदान के पानी बहाने के विवाद को लेकर सोमवार की रात को एक पक्ष के लोगों ने कुल्हाड़ी व लाठी-डंडे से दूसरे पक्ष पर प्रहार कर दिया। हमले में गंभीर रूप से घायल महिला की मौत हो गई, जबकि मृत महिला के पुत्र-पुत्री समेत आठ लोग घायल हो गए। मृत महिला के पति की तहरीर पर पुलिस ने दूसरे पक्ष के आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। नामजद किए गए सभी आरोपित पुलिस पकड़ से फरार बताए गए हैं। वहीँ आक्रोशित लोगों ने जिला अस्पताल के सामने सड़क जाम भी  कर दिया था जिसे बलरामपुर चौकी पुलिस ने समझा बुझा समाप्त कराया। ग्यासपुर गांव निवासी हरिराम निषाद व लल्लन निषाद के बीच सड़क पर नाबदान का पानी बहाने को लेकर आपस में विवाद चल रहा था। इसी विवाद को लेकर सोमवार की रात को लगभग आठ बजे दोनों पक्षों के बीच कहासुनी होने लगी। कहासुनी के दौरान लल्लन पक्ष के लोगों ने कुल्हाड़ी, लाठी-डंडा से हमला कर दिया। इस हमले में 45 वर्षीय मीरा देवी पत्नी हरिराम निषाद, उसके पुत्र 30 वर्षीय मनोज निषाद, 21 वर्षीय दीपू, 24 वर्षीय पुत्री पूनम, 18 वर्षीय पूजा, 55 वर्षीय इमरती देवी पत्नी अवधू निषाद, उसकी पुत्री 16 वर्षीय रंजना, 15 वर्षीय सोनी घायल हो गई। संघर्ष की खबर पाकर कंधरापुर के साथ ही कई थाने की पुलिस व यूपी 100 की पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस के आने से पूर्व ही हमलावर पक्ष के लोग घर छोड़कर फरार हो गए। सभी घायलों को इलाज के लिए पुलिस ने जिला अस्पताल भेजवा दिया। जिला अस्पताल पहुंचने पर डाक्टरों ने मीरा को मृत घोषित कर दिया, जबकि अन्य घायलों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। घायलों में चार लोगों की हालत गंभीर बताया गया है। मृत महिला के दो पुत्र व पांच पुत्रियां हैं। मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। कंधरापुर थानाध्यक्ष अंशुमान यदुवंशी ने बताया कि मृत महिला के पति हरिराम निषाद की तहरीर पर गांव निवासी लल्लन निषाद पुत्र हंशू निषाद, उसके पुत्र मोनू, अरुण, अर्जुन, सुनील पुत्र अवधराज निषाद, महावीर पुत्र रोहित निषाद, घनश्याम पुत्र लल्लन निषाद, जिलाधीश पुत्र नन्हकू निषाद के खिलाफ गैर इरादतन हत्या, मारपीट आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। फरार आरोपितों की तलाश की जा रही है।  घटना में शामिल आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर आक्रोशित ग्रामीणों ने जिला अस्पताल के मुख्य गेट के सामने सड़क पर चक्का जाम कर दिया। चक्का जाम कर रहे ग्रामीण हमलावरों की गिरफ्तारी व मुआवजा दिलाने की मांग कर रहे थे। चक्का जाम की खबर पाकर बलरामपुर चौकी प्रभारी बृजेश सिंह पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने आक्रोशित ग्रामीणों को समझा-बुझाकर डेढ़ घंटा बाद जाम समाप्त करा दिया। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment