.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : पद्मश्री गायक अनूप जलोटा की गजलों ने श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया

आजमगढ़ के लिए यादगार बनी 'महताब-ए-मौसीकी' की शाम, अनूप जलोटा,युवा गायक आदित्य सारस्वत व अनुजा ने अपने सुरों के माध्यम से जलवा बिखेरा

आजमगढ़ : भजन व गजल गायक पद्मश्री अनूप जलोटा ने गुरुवार की शाम शहर के एक होटल में आयोजित 'मैं एक शाम, अगर चुरा लूं' कार्यक्रम में एक से एक गजल सुनाकर 'महताब-ए-मौसीकी' यादगार बना दिया। शुरुआत मशहूर भजन 'ऐसी लागी लगन, मीरा हो गई मगन' से की, जिसे सुन श्रोता भक्तिरस में गोता लगाते रहे। इसके बाद जब गजलों की शुरुआत की तो वाह-वाह के बाद तालियां रुकने का नाम नहीं ले रहीं थी।हालाकि गजलों की इस शाम की औपचारिक शुरुआत भजन सम्राट पदमश्री अनूप जलोटा ने अपने चिरपरिचित अंदाज में ऐसी लागी लगन मीरा हो गई मगन जैसे भजन से किया। इसके बाद एक से बढ़कर एक गीतों से सभी को झूमने पर मजबूर कर दिया। इस सुरों से सजी शाम का श्रोताओं ने रात तक लुत्फ उठाया। शाम साढे सात बजे शुरु हुए इस संगीतमयी शाम में एक के बाद एक बेहतरीन गजलों ने अनूप जलोटा,युवा गजल गायक आदित्य सारस्वत व अनुजा ने अपने सुरों के माध्यम से जलवा बिखेरा।
तुम इतना जो मुस्कुरा रही हो, क्या गम है जिसको छिपा रही हो। होठों से छू लो तुम मेरा गीत अमर कर दो, लज्जते गम बढ़ा दीजिए आप फिर मुस्कुरा दीजिए जैसी एक के बाद एक गजलों को सुनाकर समूची महफिल इन गायकों ने अपने नाम कर लीं।
जैसे जैस रात हो रही थी वैसे वैसे गजलों को लेकर श्रोताओं की भूख बढ़ती जा रही थी। फिर क्या था, फरमाइशें आने लगीं। किसी ने ‘न जी भरके देखा न कुछ बात की बड़ी आरजू थी मुलाकात की। व हंगामा है क्यूं बरपा थोड़ी सी जो पी ली है, जैसी गजलों की फरमाइश कर दी। इन गजलों को सुनाकर गायकों ने समा बांध दिया। श्रोता मंत्र मुग्ध हो गए। बड़े मशहूर होते जा रहे हो सभी से दूर होते जा रहे हो, तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगे, मै एक शाम चुरा लूं अगर बुरा न लगे व नजरें मिलती हैं जैसी गजलों से देर शाम तक शहरी डूबते उतराते रहे। इसके पूर्व आयोजक मंडल की डा. स्वस्ति सिंह, डा. निर्मल श्रीवास्तव, डा. अशोक सिंह एवं डा. शहाबुद्दीन ने अनूप जलोटा, आदित्य सारस्वत का स्वागत किया। कार्यक्रम संचालन शिब्ली पीजी कॉलेज दर्शनशास्त्र के प्राध्यापक डा. विनोद कुमार सिंह ने किया। इस मौके पर मंडलायुक्त जगत राज, जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी, पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष जयनाथ सिंह, डा. गायत्री यादव, डा. पीयूष यादव, पुष्पा सिंह, वीना सिंह, अलका सिंह, श्याम गुप्ता, अभिषेक पंडित सहित शहर के काफी संख्या में संगीत प्रेमी थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment