.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: मोबाइल रिपेयरिंग दूकान में छपते थे नोट,02 गिरफ्तार,03 लाख 43 हजार के नकली नोट मिले

ग्रामीण क्षेत्रों में आसानी से चला देते थे असली जैसे दिखने वाले नोट, 02 हजार के 145 और सौ रुपये के 530 नकली नोट मिले

गिरफ्तार अभियुक्त नैय्यर आलम उर्फ लड्डू पर पूर्व में ही दर्ज है हत्या,बलात्कार व गुंडा एक्ट के मामले 

आजमगढ़ : पुलिस कप्तान के निर्देशन में अपराध व अपराधियों के विरूद्ध चलायो जा रहे अभियान के क्रम मे सरायमीर थाना पुलिस को स्वाट टीम के साथ कार्य करते हुए एक बड़ी कामयाबी मिली जब पुलिस ने एक मोबाइल रिपेयरिंग दूकान में नकली करेंसी नोट छापने वाले नेटवर्क का खुलासा कर दिया। मौके से पुलिस ने 02 अभियुक्तों के पास से नकली नोट छापने वाले हाई क्वालिटी के प्रिंटर स्कैनर और लगभग साढ़े 03 लाख मूल्य के 02 हजार व सौ रुपये के नकली नोट बरामद कर लिया है। एसपी ग्रामीण नरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया की कुछ दिनों पूर्व सरायमीर क्षेत्र में 02 हजार के 18 नकली नोटों के संग पुलिस ने एक व्यक्ति गिरफ्तार कर जेल भेजा था इसी कड़ी में आगे जांच पड़ताल करते हुए थानाध्यक्ष विजय प्रताप सिंह व प्रभारी स्वाट टीम अश्वनी कुमार पाण्डेय को जरिए मुखबिर के सुचना प्राप्त हुई कि नन्दाँव बाजार में स्थित समीर मोबाइल रिपेयरिंग सेंटर (दुकान) में नकली नोट बनाने का काम किया जाता हैं । मुखबिर कि सुचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुए प्रभारी निरीक्षक सरायमीर मय हमराह व स्वाट टीम की संयुक्त टीम द्वारा मौके पर पहुचकर अभियुक्त नैय्यर आलम उर्फ लड्डू पुत्र शाहआलम, निवासी-नन्दाँव बाजार, थाना-सरायमीर व अभियुक्त रविन्द्र मौर्या पुत्र हरिलाल मौर्या, निवासी- निकामुद्दीनपुर, थाना-निजामबाद, आजमगढ़ को गिरफ्तार किया गया । जिनके पास से तीन लाख तैतालीस हजार रुपये की जाली नोट व उन्हें बनाने का उपकरण (प्रिन्टर, स्कैनर ) बरामद हुआ । बरामद नकली नोटों में 02 हजार के 145 और सौ रुपये के 530 नकली नोट मिले। जिसके आधार पर थाना-सरायमीर पर मु0अ0सं0-23/19 धारा 489 डी भादवि, पंजीकृत किया गया । एसपी ग्रामीण ने मीडिया को बताया की क्योंकि जाली नोट बाहर से नहीं आ पा रहे थे तो इन जालसाजों ने खुद ही ऐसे नोट तैयार करने का कार्य पिछले कुछ महीनो से शुरू कर दिया था। इनके द्वारा बनाये रहे नोटों को एक बारगी देख कर ग्रामीण क्षेत्रों में लोग शक भी नहीं कर सकते हैं क्योंकि कागज भी इन लोगों  लगभग बराबर इस्तेमाल किया था । हालांकि नोटों पर सीरीज नंबर लगभग एक ही होते थे। बताया की इसका फायदा उठा कर इन लोगों ने विभिन्न स्थानों पर अपने एजेंट के माध्यम से दशहरे व बाद में लगने वाले विभिन्न स्थानों पर मेलों नकली नोटों का प्रचलन कराया भी है। गिरफ्तार लोगों का पहले भी आपराधिक इतिहास रहा है। जिनमे नैय्यर आलम उर्फ लड्डू पुत्र शाहआलम, निवासी-नन्दाँव बाजार, थाना-सरायमीर पर हत्या,बलात्कार व गुंडा एक्ट के अलावा भी अन्य मुक़दमे दर्ज हैं। एसपी ग्रामीण ने कहा की इस जाली नोट कारोबार के अन्य वांछितों की तलाश की जा रही है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment