.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

जिलाधिकारी ने खसरा और रूबैला टीकाकरण अभियान (एमआर अभियान) का शुभारम्भ किया

15 जनवरी 2019 तक चलेगा अभियान : 09 माह से 15 वर्ष तक के बच्चों को टीका लगाया जायेगा 

आजमगढ़ 10 दिसम्बर 2018-- जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी द्वारा बड़ादेव जूनियर हाईस्कूल से खसरा और रूबैला अभियान (एमआर अभियान) का शुभारम्भ फीता काटकर किया गया। उन्होने कहा कि यह अभियान 15 जनवरी 2019 तक चलाया जायेगा, जिसके अन्तर्गत खसरा रोग के सफाया तथा रूबैला को नियंत्रित करने के लिए 09 माह से 15 वर्ष तक के बच्चों को टीका दिया जाना आवश्यक है, जिसके लिए टीकाकरण हेतु 17,64,297 बच्चों को लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होने बताया कि इस अभियान के अन्तर्गत कुल स्थायी सत्रों की संख्या 30 प्रति दिवस, कुल 23 मोबाइल टीम, 532 वैक्सीनेटर, 168 सुपरवाइजर, 92 चिकित्साधिकारी, 5286 आंगनवाड़ी कार्यकत्री, 3968 आशा कार्यकत्री, 29 एईएफआई सेन्टर तथा 507 टीमें प्रतिदिन कार्य करेंगी। खसरा और रूबैला अभियान (एमआर अभियान) का प्रथम चरण जनपद के समस्त स्कूलों/समुदायों/सरकारी अस्पतालों तथा स्वास्थ्य केन्द्रों पर चलाया जायेगा। उन्होेने समस्त संबंधित चिकित्साधिकारी, आगंनवाड़ी कार्यकत्री, आशा कार्यकत्री, अध्यापकों से कहा कि बच्चों का टीकाकरण करते समय ऐसे पेश आयें जिससे कि बच्चों में टीकाकरण को लेकर कोई डर न हो।
उन्होने कहा कि इस अभियान में लगी हुई सभी टीमें टीकाकरण को पूरी ईमानदारी तथा सतर्कता के साथ करें, इस कार्य में कोई लापरवाही न करें।
उन्होने बताया कि खसरा एक जानलेवा रोग है, जो कि वायरस द्वारा फैलता है। बच्चों में खसरे के कारण विकलांगता तथा असमय मृत्यु हो सकती है। इसी प्रकार रूबैला भी एक संक्रामक रोग है जो वायरस द्वारा फैलता है, इसके लक्षण खसरा रोग जैसे ही होते हैं, यह लड़के या लड़की दोनो को संक्रमित कर सकता है। यदि कोई महिला गर्भवस्था के शुरूआती चरण में इससे सक्रंमित हो जाये तो कन्जेनिटल रूबैला सिन्ड्रोम हो सकता है, जो कि उसके भू्रण तथा नवजात शिशु के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।
उन्होने बताया कि खसरा एवं रूबैला का टीका पूर्ण रूप से सुरक्षित है, इसके कोई दुष्प्रभाव नही होते हैं। उन्होने बताया कि बच्चे टीकाकरण से पहले नाश्ता कर लें (खाली पेट न हों)।
इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 रविन्द्र कुमार, अपर सीएमओ डाॅ0 संजय कुमार, डाॅ0 परवेज अख्तर, डाॅ0 वाईके राय, यूएनडीपी पूनम शुक्ला, यूनीसेफ प्रवेश मिश्रा, डब्ल्यूएचओ डाॅ0 गणेश नायर, मनीष तिवारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेन्द्र कुमार पाण्डेय उपस्थित रहे। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment