.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

एस.के.डी. विद्यामंदिर में मातृ सम्मेलन::मातृ शक्ति ही विश्व की सर्वोच्च शक्ति है-संगीता तिवारी

जहानागंज:आजमगढ़ : मातृ शक्ति ही संसार की सबसे बड़ी शक्ति है। ईश्वर जब संसार में साकार रूप से अवतरित नहीं हुआ तो उसने अपने स्वरूप माता को संसार में भेजा। उक्त बातें राज्य महिला आयोगी की सदस्य संगीता तिवारी ने क्षेत्र के धनहुंआ में रविवार को आयोजित मातृ सम्मेलन कार्यक्रम में कही।
इस अवसर पर बच्चों के बौद्धिक विकास पर विस्तृत चर्चा करते हुए वाराणसी से पधारे वरिष्ठ बाल मनोविज्ञानी डा. दिग्विजय सिंह ने कहा कि किसी भी बच्चे के विकास के लिए संस्कार बहुत ही जरूरी है जिसके विकास के लिए माता का बहुत ही बड़ा योगदान होता है। माताओं को बच्चों की इच्छाओं को समझना चाहिए। माताओं द्वारा उचित ध्यान और समय देने से ही बच्चों का पूर्ण बौद्धिक विकास संभव है। बच्चोें को भय दिखाने से उनका विकास प्रभावित होता है। इसके साथ ही डा. सिंह ने बच्चों के लिए दिये जाने वाले उचित भोजन पर भी विस्तार से प्रकाश डाला।
विशिष्ट अतिथि भारतीय जनता पार्टी के उ0प्र0 मीडिया पैनलिस्ट अमित तिवारी ने कहा कि बच्चों के अन्दर संस्कार विकसित करके ही उन्हे देश का कर्णधार बनाया जा सकता है। इसी संस्कार के बल पर ही वर्तमान में भारत विश्वगुरू बनने की राह पर आगे बढ़ रहा है। श्री तिवारी ने उक्त कार्यक्रम आयोजित करने के लिए विद्यालय परिवार को साधुवाद दिया। बाल रोग विशेषज्ञ डा0 डी.डी. सिंह ने बच्चों के अन्दर रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे विकसित हो तथा किस प्रकार का खान-पान अपना कर बच्चे को स्वस्थ्य रखें, इसको विस्तृत ढंग से बताया। उक्त विषय पर डा. विनोद कुमार ने भी अपना विचार रखा। कार्यक्रम में उपस्थित माताओं ने बच्चों की परिवरिश को लेकर अपने विभिन्न सवालों को रखा जिसका उचित समाधान विशेषज्ञों द्वारा बताया गया।अपने विचारों को रखते हुए विद्यालय के प्रबन्धक विजय बहादुर सिंह ने कहा कि विद्यालय में इस बात पर जोर दिया जाता है कि बच्चे जो कुछ भी पढ़ रहे हैं, उसे करके सीखंे। कार्यक्रम का संचालन बबिता चतुर्वेदी ने किया। विद्यालय के बच्चों द्वारा मां थीम पर बनी आकर्षक पेंटिगें अतिथियों को भेंट की गयी। कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय के श्रीकान्त सिंह, जयनरायन सिंह, आशुतोष सिंह सूर्य कुुमार सिंह, अनन्त सिंह, संजय यादव, राजेश विश्वकर्मा,प्रवीन सिंह, अभिमन्यु ममता शुक्ला, महाश्वेता ने अपना अहम योगदान दिया। स्वागत भाषण व धन्यवाद ज्ञापन विद्यालय के प्रधानाचार्य ओमप्रकाश चैबे व के0के0 सरन ने दिया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment