.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

चेतावनी ! रूबेला व मिजिल्स टीकाकरण में असहयोग पर विद्यालय की समाप्त होगी मान्यता

आजमगढ़ : जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने कहा कि रूबेला व मिजिल्स खतरनाक बीमारी हैं, इसकी वजह से हर वर्ष हजारों बच्चे व गर्भवती महिलाओं की मौतें होती है, इसलिए नौ से 15 वर्ष के बच्चों को हर हाल में इसका टीका लगवाएं। उन्होंने कहा कि शिकायत मिली है कि तमाम विद्यालय इसमें सहयोग नही कर रहे हैं। ऐसे में सरकारी से लेकर प्राइवेट सभी विद्यालयों के प्रबंधकों व प्रधानाचार्यो को चेतावनी दी जाती है कि अगर वे टीकाकरण में सहयोग नहीं करते हैं तो उनके विद्यालय की मान्यता प्रत्याहरण की कार्रवाई की जाएगी। जिलाधिकारी कलेक्ट्रेट सभागार में बुधवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद के विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या ली जाए तो करीब 12 लाख बच्चे पढ़ते हैं। ऐसे में इस अभियान को सफल बनाने का माध्यम विद्यालय ही हैं। ऐसे में विद्यालय भी पूरा सहयोग करें और टीकाकरण करवाएं। अगर कोई अभिभावक टीका लगवाने में आनाकानी करता है तो उन्हें पूरी तरह से समझाएं। यह भी बताएं कि टीका नहीं लगेगा तो आपके बच्चे की जान खतरे में पड़ सकती है, ताकि हर हाल में बच्चे को टीका लगाया जा सके। उन्होंने कहा कि कुछ जगहों पर बच्चों के अचेत व उल्टी होने की बात सामने आ रही है। यह टीका लगाने से नहीं हो रहा है, बल्कि बच्चा पहले से दिक्कत में हैं इसलिए इसका कोई इफेक्ट नहीं है। घबराने की कोई बात ही नहीं है। अफवाहों से हर हाल में बचा जाए। इस अवसर पर सीएमओ डा. रवींद्र कुमार, बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय, अपर चिकित्साधिकारी डा. संजय गुप्ता, मनीष तिवारी आदि उपस्थित थे। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment