.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

एससी/एसटी एक्ट का जिले भर में हुआ विरोध,जुलूस निकाल दुकाने बंद कराया


आजमगढ़। एससी/एसटी एक्ट एंव आरक्षण के विरोध में गुरूवार को जनपद मुख्यालय समेत जिले के विभिन्न क्षेत्रों में अनेक समाजिक व गैंर राजनैतिक संगठनों ने जुलूस निकाला और लोगों से दुकान बंद करने का आग्रह करते रहे। सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन भी चौकस रहा। कही से अप्रिय घटना की सूचना नही आई है। शहर में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटने के लिए केंद्र सरकार द्वारा लाये गये अध्यादेश एससी-एसटी एक्ट के प्रावधान पर आपत्ति दर्ज कराने के लिए गोविन्द दूबे के आह्वान पर कलेक्ट्रेट चौराहें से शांतिपूर्ण जुलूस निकालकर भारत बंद का समर्थन किया गया। इस दौरान पूरे नगर का भ्रमण करते हुए अग्रसेन चौराहा, चौक,तकिया,पहाड़पुर, सिविल लाइन, रैदोपुर, रोडवेज सहित आदि मुहल्लों से होते हुए जुलूस पुन: कलेक्ट्रेट स्थित रिक्शा स्टैंड पर पहुंचकर सभा के रूप में तब्दील हो गया । काला कानून बंद हो, एससी-एसटी एक्ट का दुरूपयोग बंद हो जैसे नारे लगाते हुए लोगों से भारत बंद के समर्थन में दुकानों को बंद करने की अपील किया गया। जनसभा को संबोधित करते हुए उमेश सिंह गुड्डू ने कहा कि भारत के सर्वोच्च संवैधानिक संस्था सुप्रीम कोर्ट के देश के न्याय तंत्र के स्वतंत्रता के लिए भारतीय संसद के हस्तक्षेप की कड़ी निन्दा करते है। इसलिए भारत बंद का समर्थन करते है और संसद द्वारा पारित अधिनियम अनुसूचित जाति जनजाति अधिनियम 2018 का विरोध करते हैं। यह न्याय, समता, निष्पक्षता का गला घोंटने की कोशिश है। गोविन्द दूबे ने कहा कि एससी एसटी एक्ट से सहमत हूं लेकिन उसके प्रावधान पर हमारी आपत्ति है क्योंकि अकारण ही इस कानून के जरिये साजिश के तहत लोगों को फंसाया जा सकता है और यह लड़ाई तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार पर पुन: विचार करते हुए इसे वापस नहीं लेती। इसी क्रम में विवेक पांडेय,पद्माकर लाल वर्मा,विनीत सिंह रीशू,अरूण पाठक,विवेक सिंह,रजनीश राय, प्रवीण सिंह, मानवेन्द्र सिंह,विक्की सिंह, विवेक राय, इंद्रजीत सिंह, अनु•ाव सिंह, बजरंग, समर प्रताप सिंह ने अपना विरोध दर्ज कराया। इस मौके पर अधिवक्ता मनोज कुमार सिंह,अ•िाषेक सिंह,चन्दन सिंह, रत्न पांडेय, पवन सिंह सम्राट, धीरेन्द्रधर द्विवेदी, संतोष पाठक, शिवाकांत पांडेय, भोला सिंह, सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहे। चंदेश्वर बाजार में गौरव पांडेय के नेतृत्व में दुकाने बंद कराई गई साथ ही सांकेतिक विरोध में राजमार्ग को जाम भी किया गया। ठेकमा में एसाी/एसटी कानून मे संशोधन को लेकर भारत बंद का समर्थन करते हुए ठेकमा, भीरा,बरदह की बाजार पूर्ण रूप से बंद रही। सवर्ण एकता जिंदाबाद के नारे लगाते हुए प्रदर्शन कारियो ने केंद्र सरकार से बिल में संशोधन की मांग की। हड़ताल के समर्थन मे क्षेत्र की निजी शिक्षण संस्थान भी बंद रहे। इस अवसर पर अनिल राय,वृजेश राय, गुड्डू राय,अरूणेश,पवन,विनोद राय,अखिला,सुनील राय,शोलू सिंह आदि अन्य संगठनो के लोग भी मौजूद रहे। जहानागंज क्षेत्र में एसी/एसटी काला कानून के विरोध में भारतीय आरक्षण मुक्ति दल के द्वारा प्रदेश महामंत्री ज्ञानेंद्र सिंह,मंडल अध्यक्ष गोपाल सिंह के नेतृत्व में जहानागंज बाजार बंद कराया गया । बंद कराने में क्षेत्र के गांव में से सैकड़ों की संख्या में रामपुर गांव के पास एकत्रित हुए और वहां से जुलूस निकालते हुए सरकार विरोधी नारे लगाते हुए एक राष्ट्र एक कानून की मांग करते हुए जहानागंज मोड,विकासखंड,अस्पताल,इलाहाबाद बैंक ,चौक, मवाली मोड,मिश्रा मार्केट,सैयद मोढ,मवेशी होते हुए जहाँनागंज चौक पर सभा के रूप में परिवर्तित हो गई। जिसमें प्रदेश महामंत्री ज्ञानेंद्र सिंह ने कहा कि काला कानून वापस नहीं हुआ तो आगे चलकर हम लोग इससे बड़ा आंदोलन करेंगे। एसी/एसटी कानून कोर्ट के खिलाफ जा रहा है साथ ही सवर्णों को दबाया जा रहा है यह कानून किसी तरह देश हित में नहीं है। मंडल अध्यक्ष गोपाल सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा सवर्णों को दबाया जा रहा है और नया नया कानून पास करके हम लोगों को बेकार किया जा रहा है। वही थानाध्यक्ष नदीम अहमद फरीदी अपने हमराहियों एवं अधिक संख्या में फोर्स लेकर आगे पीछे भ्रमण करते रहे। इस मौके पर अजय सिंह, पिन्टू सिंह, पंकज सिंह, दीपक सिंह, संदीप सिंह,सेराज अहमद,राम पलट,राय रविन्द्र राय,विनोद राय,अरविंद सिंह आदि सैकड़ों की संख्या में लोग रहे। लालगंज में एससी एसटी कानून के विरोध में सरकार के विरुद्ध गुरुवार को विरोध व धरना प्रदर्शन किया गया तथा दुकानों को बंद कराने का प्रयास किया गया। इस अवसर पर लालगंज बाजार में कुछ स्थानों पर दुकान बंद कराने में नोकझोंक भी हुई किंतु चौकी इंचार्ज अनिरुद्ध सिंह के हस्तक्षेप से मामला शांत हो गया। दलित संगठनों के दबाव में आकर केंद्र सरकार ने एससी एसटी एक्ट को अपने पुराने स्वरूप में ही पेश कर दिया। गौरतलब है की पिछले दिनों सुप्रीम ने एससी एसटी एक्ट में आदेश दिया था की मुकदमा दर्ज होने पर डिप्टी एसपी स्तर का अधिकारी जांच गिरफ्तारी का आदेश देगा जिस पर दलित संगठनो ने विगत 02 अप्रैल को बंद बुला जम कर हिंसा की थी, आजमगढ़ में भी काफी बवाल हुआ था। इसके बाद दलित नेताओं के दबाव में केंद्र सरकार ने संसद में एससी एसटी एक्ट संशोधन विधेयक 2018 के जरिए मूल कानून में 18 ए जोड़ी गई जिसके द्वारा पुनः पुराने कानून को बहाल कर दिया गया । इस में एससी-एसटी केस दर्ज होते ही अविलंब गिरफ्तारी का प्रावधान है। जांच इंस्पेक्टर स्तर का अधिकारी करेगा। जातिसूचक शब्दों के इस्तेमाल संबंधी शिकायत पर अविलंब मामला दर्ज होगा तथा एससी एसटी केस की सुनवाई स्पेशल कोर्ट में होगी इसी के विरोध में सवर्ण संगठनो ने राष्ट्रीय स्तर की बंदी के बुलाई थी जिसका साथ असर आजमगढ़ में भी देखा गया । लालगंज में बंदी काफी असरदार रही। इस अवसर पर विभिन्न प्रकार के नारों के बीच एक ज्ञापन महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित तहसीलदार अनिल कुमार पाठक के माध्यम से योगेंद्र राय ने सौंपा। इस अवसर पर समर बहादुर सिंह एडवोकेट, नागेंद्र सिंह, विनय शंकर राय, योगेंद्र राय, अनिल राज,अवनीश राय बंटी,डॉक्टर अनिल राय,राणा प्रताप सिंह एडवोकेट, जेपीएन तिवारी,संतोष कुमार सिंह,श्यामा सिंह, आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। इसी क्रम में सगड़ी तहसील क्षेत्र के जीयनपुर, लाटघाट,अजमतगढ़ बाजार में भारत बंद के समर्थन में नौजवानों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करते हुए सरकार विरोधी नारे लगाए। सुबह 8:00 बजे से ही सैकड़ों की संख्या में युवाओं ने लाटघाट बाजार में सड़क पर उतर कर एससी/एसटी एक्ट के विरोध में भारत बंद का समर्थन किया। वही बाजारों में भारत बंद का मिलाजुला असर देखने को मिला। वही जीयनपुर कोतवाल देवानंद ं पुलिस बल के साथ सतर्क रहे। इसमें मुख्य रूप से राजू मिश्रा,मोनू सिंह,शंकर सिंह,विपिन,अनुज, भोला,अभिषेक,विक्रम अरविंद राय,सोनू राय,पीयूष राय,नवीन राय,पवन राय,राहुल राय,वन टू राय,आशीष राय सहित सैकड़ों की संख्या में युवाओं ने प्रतिभाग कर विरोध प्रदर्शन किया। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment