.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मेहनगर: मुसहर बस्ती में डायरिया के प्रकोप से बच्ची की मौत,आधा दर्जन उपचाररत

स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप,सीएमओ ने तत्काल भेजी टीम आजमगढ़ : मेहनगर तहसील के गंजोर गांव की मुसहर बस्ती में शुक्रवार की शाम को डायरिया के चेपट में आने से आधा दर्जन से ज्यादा बच्चे बीमार हो गए। जिसमें एक बच्चे की मौत की खबर है । वहीँ अन्य पांच की हालत गंभीर होने पर तीन बच्चों को चक्रपानपुर मेडिकल कालेज एवं हास्पिटल में भर्ती कराया गया है। जबकि दो बच्चों की हालत गंभीर होने पर गांव में ही स्वास्य विभाग की टीम ने इलाज किया। जानकारी के अनुसार गांव की मुसहर बस्ती में डायरिया से पंचम की तीन वर्षीय पुत्री नंदिनी की मौत हुई है। इसके अलावा बीमार लोगों में गांव के राहुल (3 वर्ष) पुत्र पंचम, संदीप (6 वर्ष) पुत्र पंचम, लाली (65 वर्ष) पत्नी पलट, गुलाब (6 वर्ष) पुत्र अवधू, अनीता (3 वर्ष) पुत्र शुभम, लाली (60 वर्ष) पत्नी दुशासन, प्रियंका (6 वर्ष) पुत्री विनोद, करिया (8 वर्ष) पुत्र अवधू शामिल हैं। राहुल, संदीप व लाली को उपचार के लिए पीजीआइ चक्रपानपुर में भर्ती कराया गया है तो वहीं गुलाब, अनीता, लाली को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मेंहनगर व प्रियंका व करिया को प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। बताया जाता है कि पंचम के घर से बच्चों को उल्टी-दस्त शुरू हुई तो पूरे गांव में डायरिया फैल गया। सभी को उपचार के लिए स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया गया। यहां उपचार के दौरान नंदिनी की मौत हो गई। डायरिया से मौत की सूचना जैसे ही स्वास्थ्य विभाग को सुबह मिली। हड़कंप मच गया। सीएमओ डा. रवींद्र कुमार ने तुरंत स्वास्थ्य विभाग की टीम को गांव में भेजा।
मेंहनगर स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. राजेश कुमार अपनी टीम फार्मासिस्ट कमलेश, पवन यादव के साथ गांव में डेरा डाले हुए हैं। प्रभारी चिकित्साधिकारी ने बताया कि गांव में कोई भी इंडिया मार्का हैंडपंप टू नहीं है। इसकी वजह से छह नंबर के हैंडपाइप से गांव के लोग पानी पीते हैं। इसी दूषित पानी को पीने से डायरिया फैला है। पूरे बस्ती के हैंडपाइप में दवा डाल दी गई है। बीमार लोगों का उपचार किया जा रहा है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment