.

.

.

.

.

.

.

.
.

बिलरियागंज:: अपने ही जाल में फंसा दुष्कर्म का आरोपी,पुलिस से बचने को रची थी कहानी

दुष्कर्म मामलें में अदालत की मोहलत के बाद भी नहीं हुआ था हाजिर 

बिलरियागंज/आजमगढ़:: बिलरियागंज थाना क्षेत्र के इस्माइलपुर गोरिया गांव के निवासी ईश्वर राजभर (19) पुत्र राजकुमार की बुधवार की रात शौच करने गया था जहां उसे संदिग्धावस्था में खून से लथपथ पाया गया था । गांव के लोगों ने घायल अवस्था में उसे सीएचसी बिलरियागंज में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जहाँ डाक्टर ने उसे हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया। परिजन एक प्राईवेट हॉस्पिटल में दाखिल कराये है जहां उसका उपचार चल रहा है। इस मामले में ईश्वर राजभर ने आरोप लगाया की पड़ोसी गांव के कुछ लोगों ने गोली मार कर घायल कर दिया। वही बिलरियागंज थानाध्यक्ष विजय प्रकाश यादव का कहना है ईश्वर एक नाबालिग युवती को 3 माह पूर्व भगा ले गया था बाद में पुलिस ने युवती को कुछ ही दिनों में बरामद कर लिया और ईश्वर के खिलाफ अपहरण और दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया था । मामला न्यायालय में चला गया न्यायालय ने उसे 20 दिन में हाजिर होने की मोहलत दी थी। जबकि पुलिस के अनुसार मोहलत की अवधि समाप्त हो चुकी है और वह हाजिर नहीं हुआ साथ ही पुलिस द्वारा गिरफ्तारी से बचने के लिए उसने अपने पैर व कंधों पर कटीले तारों से वार कर लिया और घटना को कुछ और ही मोड़ दे दिया। जबकि गाँव के कुछ लोग गोली की आवाज पर ही सिवान में पहुचकर ईश्वर को अस्पताल पहुचाया। जबकि पुलिस ने कहा कि पीड़ित की तरफ से अभी कोई तहरीर थाने में नहीं दी गई। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment