.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

पीजीआई में नियुक्त स्थानीय गार्ड व कर्मियों की दबंगई के विरोध में किया प्रदर्शन


आजमगढ़ :: जिले में चक्रपान पुर स्थित सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल पीजीआई में कार्यरत गार्ड व कर्मचारी जो संविद पर तैनात है और स्थानीय है  इन पर आरोप है कि आये दिन यह मरीजो के तिमारदार से दबंगई और मारपीट करते है। शुक्रवार को इसे लेकर स्थानीय लोगों ने हास्पिटल में प्रदर्शन किया और इनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की। कार्रवाई न होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी भी लोगों ने दी।
आजमगढ़ जिले के चक्रपानपुर में स्थित सुपर फसेल्टी हास्पिटल पीजीआई में जनपद ही नही पूर्वाचल के कई जिलों से लोग अपने मरीजों दिखाने के लिए आते है। महाप्रधान जेपी सिंह का आरोप है कि इस अस्पताल में मौजूद गार्ड व कर्मचारी आये दिन मरीजों के परिजनों के साथ मारपीट करते है चूंकि यह लोग लोकल हैं और एक ही गांव के रहने वाले है इसलिए कोई भी इनसे लड़ने का साहस नही जुटा पाता है। इनमे से कोई भी एक कर्मचारी अगर किसी घटना को आंजाम देता है तो सभी लोग इक्ट्ठा हो जाते है और लोग उनके द्वारा किये गये अत्याचार को सह कर वापस लौट जाते है। लेकिन आज कई गांव के लोगों ने उन कर्मचारियों के खिलाफ आवाज उठाई जो लोगों के साथ मारपीट करते है। ग्रामीण दर्जनों की संख्या में पीजीआई पहुंचे जहां लोगों ने कर्मचारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए एक ज्ञापन भी अस्पताल प्रशासन को सौंपा। महाप्रधान जेपी सिंह ने चेतावनी दी कि अगर अस्पताल प्रशासन जल्द से जल्द दोशियों पर कार्रवाई नही करता है तो वह आंदोलन को बड़ा रूप देने का काम करेंगे। 
वही इस मामले में गार्ड इंचार्ज विश्वामित्र सिंह का कहना है कि ग्रामीणों द्वारा उन्हें शिकायत मिली है और जो लोग भी इसमें दोषी पाये जायेंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।
इस दौरान लोग अध्यक्ष शेषनाथ सिंह नेतृत्व में ज्ञापन सौंपे और यशवंत सिंह, अनिल सिंह, विनोद सिंह , रमाकांत पांडेय, प्रमोद विश्वकर्मा, मोक़र्रम खान, रमेश चंद्र पाण्डेय, सुरेंद्र यादव, राममूरत सिंह, टिल्ठू सिंह सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment