.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

लोक कल्याण मेले का सांसद ने किया उद्घाटन,विभिन्न विभागों ने लगाई प्रदर्शनी



प्रधानमंत्री आवास योजना के 20 लाभार्थियों को प्रतीक चाभी सौंपी गयी 
 आजमगढ़ 13 अप्रैल 2018 -- प्रदेश सरकार के कार्यकाल का एक वर्ष पूर्ण होने के परिपेक्ष्य मे जिला पंचायत के नेहरू हाल मे आयोजित 3 दिवसीय लोक कल्याण मेले का विधिवत शुभारम्भ मुख्य अतिथि के रूप मे सांसद श्रीमती नीलम सोनकर द्वारा किया गया। इस अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनी/स्टालों का भी मुख्य अतिथि द्वारा अवलोकन किया गया। लोक कल्याण मेले मे प्रधानमंत्री आवास योजना के 20 लाभार्थियों को प्रतीक चाभी तथा एनआरएलएम के 5 लाभार्थियों  को प्रशस्ति पत्र एवं कृषि विभाग द्वारा 9 किसानो को कृषि यंत्र के प्रमाण पत्र वितरित किये गये। सूचना विभाग द्वारा प्रदेश सरकार के उपलब्धियों, निर्णयों, नितियों आदि के सम्बन्ध मे एलईडी वैन के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया गया जिसे लोगों ने बड़े उत्साह एवं जागरूकता के दृृष्टिकोण से देखा। इसके अतिरिक्त सूचना विभाग द्वारा उपस्थित सभी जनो को प्रचार साहित्य का वितरण किया गया।
इस अवसर पर अपने संबोधन मे मुख्य अतिथि सांसद श्रीमती सोनकर ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य को निराशा के वातावरण से निकालने, समाज मे शान्ति एवं सुरक्षा का माहौल पैदा करना ओर युवाओं, किसानो, उद्यमियों तथा अन्य आम लोगों को एक आशाजनक साकारात्मक परिवेश देने का कार्य सुरू किया है। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए ई-टेन्डरिंग प्रणाली लागु की है जिससे ठेके और सरकारी कार्याें मे होने वाली धांधली और भ्रष्टाचार पर प्रभावी अंकुश लग सके। कानून व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए अनेक बड़े कदम उठाये गये हैं और असमाजिक तत्वों के विरूद्ध मुहिम चलाई गयी है। उन्हे स्पष्ट संदेश दिया गया है कि प्रदेश मे कानून तोड़ने वाले को बक्शा नही जाएगा। कानून व्यवस्था के मामले मे सरकार की स्पष्ट सोच व नियत की बदौलत आज राज्य मे महिलाओं, दलितों सहित सभी वर्गोें के लोग खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। सामाजिक अमन चैन के वातावरण मे मुख्यमंत्री ने प्रदेश को एक नये रूप मे देश के सामने प्रस्तुत किया। उन्होने स्वच्छ शौचालय पर चर्चा करते हुए जनपद को शत प्रतिशत ओडीएफ बनाने पर बल देते हुए कहीं कि हर घर मे स्वच्छ शौचालय का निर्माण कराया जाए और उसका प्रयोग किया जाए।
इस अवसर पर जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी ने मुख्य अतिथि सहित अन्य सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि लोक कल्याण के लिए समर्पित प्रदेश सरकार ने जनहित मे अनेक योजनाएं संचालित की है और संबंधित अधिकारी उन योजनाओं को पूरे निष्ठा, लगन और ईमानदारी के साथ क्रियान्वित कर पात्र व्यक्ति को लाभान्वित करें। उन्होने स्वच्छ शौचालय पर विशेष बल देते हुए कहा कि विकास और समृद्धि का सीधा सम्बन्ध स्वास्थ्य से होता है और स्वास्थ्य का सीधा सम्बन्ध शुद्ध पेय जल और साफ-सफाई से होता है। गन्दगी के कारण अनेक जानलेवा बीमारियां पैदा होती हैं। ग्रामीण क्षेत्र मे सुधार लाने और ग्रामवासियों के जीवन की गुणवत्ता का स्तर ऊंचा उठाने के उद्देश्य से शासन ने यह निर्णय लिया है कि 2 अक्टूबर 2018 तक प्रदेश खुले मे शौच मुक्त घोषित किया जाए और इस लक्ष्य की प्राप्ती मे जन सहयोग आवश्यक है।
जिलाधिकारी ने उपस्थित जन समूह को सम्बोधित करते हुए आगे कहा कि लोक कल्याण मेला का मुख्य उद्देश्य है कि लोगों को शासकीय योजनाओं के विषय मे अधिक से अधिक जानकारी हो कि किस प्रकार शासन की कल्याणकारी योजनाओं से पात्र लाभार्थी लाभान्वित हुए हैं तथा उनके जीवन सकारात्मक परिवर्तन आया है। उन्होने कहा कि योजनाएं शासन द्वारा जनहित मे संचालित की जाती हैं। योजनाओं के विषय मे आमजन को जब जानकारी होगी तो उससे अधिक से अधिक पात्र व्यक्ति लाभान्वित होंगे। उन्होने कहा कि यदि शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन मे कहीं भी गड़बड़ी परिलक्षित होती है तो संज्ञान मे लायें ताकि गड़बड़ी को ठीक कराते हुए संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार ने शिक्षा व्यवस्था मे मूलभूत परिवर्तन किये हैं। उन्होने डीसी एनआरएलएम को निर्देश दिये कि स्कूली यूनिफार्म की सिलाई आजीविका मिशन के तहत गठित समूहों की महिलाओं से करायी जाए ताकि उनकी उन्नति होे सके। उन्होने अस्पताल मे भोजन बनाने के कार्य को भी उन्हे देने को कहा। जिलाधिकारी ने सभी किसानो से कहा कि वे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत फसलों का बीमा अवश्य करायें।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कार्यक्रम के आयोजन के उद्देश्य पर चर्चा करते हुए प्रदेश सरकार के योजनाओं के विषय पर प्रकाश डाला। परियोजना निदेशक ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अबतक 21210 आवास आवंटित किये गये हैं जिसमे 19600 लाभार्थियों ने अपने आवास बना लिये हैं। उन्होने बताया िकइस योजना के तहत 3 किस्तों मे लाभार्थी को रू0 1लाख 20000 हजार की धनराशि दी जाती है। प्रथम किस्त मे 40 हजार द्वितीय किस्त 70 हजार तथा तृतीय किस्त 10 हजार रू0 दी जाती है। डीसी एनआरएलएम ने बताया कि गांव की गरीब महिलाओं को संगठित कर समूह के माध्यम से उनका उत्थान किया जाता है। सीएमओ ने स्वास्थ्य सेवाओं के सम्बन्ध मे विस्तृत जानकारी दी। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने दूध उत्पादन करने तथा पशुओं का टीकाकरण कराने की अपील पशुपालकों से की।
लोक कल्याण मेले मे कृषि, उद्यान, स्वास्थ्य, आईसीडीएस, एनआरएलएम, पीएमजीएसवाई, पंचायती राज, पशु पालन आदि विभागों के स्टाल लगाये गये थे। इस अवसर पर उपरोक्त अतिरिक्त सूचना अधिकारी अंजनी कुमार मिश्र, उप कृषि निदेशक आरके मौर्य, डीडीओ विजय कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी वीके सिंह, खादी ग्रामोद्योग अधिकारी अर्जून सिंह सहित विभिन्न विभागों के संबंधित अधिकारीगण, लाभार्थी आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डीपीआरओ आनन्द प्रकाश श्रीवास्तव ने किया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment