.

.

.

.

.

.

.

.
.

15 साल के अन्दर दर्ज घोटालों के सरकारी मुकदमों की करें पुनः मानीटरिंगः मंडलायुक्त


किसी ही दशा में सरकारी धन में घपलेबाज़ी बर्दाश्त नहीं होगीः मण्डलायुक्त

आज़मगढ़ 6 अप्रैल -- मण्डलायुक्त एसवीएस रंगाराव ने कहा है कि 15 वर्षो के अन्दर जितने भी सरकारी मुकदमें घपले, घोटालों से सम्बन्धित दर्ज कराये गये है, उसे देखें तथा जिन मुकदमों में चार्ज शीट अथवा फाईनल रिपोर्ट लग चुकी है उसका विवरण तैयार कर सभी मुकदमों को रिओपेन करायें। उन्होंने मण्डल के तीनों जनपदों के जिलाधिकारियो से कहा कि इन मंकदमों की मानीटरिंग हेतु एक नोडल अधिकारी नामित करें जो दर्ज मुकदमों की जांच में जांच अधिकारी को सहयोग करेंगें। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी भी दशा में शासकीय धन के में घोटाले और दुरूपयोग को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। मण्डलायुक्त श्री रंगाराव ने शुक्रवार को अपने कार्यालय के सभागार में आयोजित विकास कार्यक्रमों, कानून व्यवस्था, कर एवं करेत्तर व अन्य राजस्व कार्यों तथा प्रर्वतन कार्यो की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि विभिन्न पेंशन योजनाओं में जिन अपात्रों को धनराशि आवंटित की गयी इसकी वसूली भी करायी जाये। मण्डल में शान्ति व्यवस्था एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत मण्डलायुक्त ने तीनों जनपद के पुलिस अधीक्षकोें को निर्देश दिया कि त्योहारों के अवसर पर जहां मूर्तियाॅ स्थापित होती है इसका चिन्हांकन करा लिया जाये तथा मूर्ति स्थापना के उपरान्त उनके क्षतिग्रस्त किये जाने की सम्भावना को समाप्त करने हेतु पुलिस व्यवस्था के साथ ही स्थानीय लोगों की ज़िम्मेदारियाॅ भी तय करते हुए उनका सहयोग लिया जाये। श्री रंगाराव ने वर्तमान में कतिपय स्थानों पर डा. भीमराव अम्बेडकर की मूर्तियों को नुकसान पहुचायें जाने के प्रकरण की संवेदनशीलता को देखते हुए समस्त पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिया कि स्थानीय लोगों का सहयोग प्राप्त कर मूर्ति को जालियों से सुरक्षित करें। इसी क्रम में उन्हों ने ज़िलाधिकारियों को निर्देश दिया कि अवैध असलहों के प्रचलन को समाप्त करने के लिये यह ज़रूरी है कि शस्त्र की दुकानों पर कारतूस एवं बुलेट्स के क्रय, विक्रय के स्टाक की जांच उप ज़िलाधिकारी एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी के माध्यम से कराना सुश्चित किया जाए।

मण्डलायुक्त एसवीएस रंगाराव ने विकास प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि समाधान दिवस एवं थाना दिवस के अवसर पर शिकायतकर्ताओं को ध्यानपूर्वक एवं धैर्य के साथ सुने। उन्होंने कहा कि इन अवसरों पर लेखपाल कानूनगों आदि मौके पर मोजूद रहते हैं इस लिये प्रयास किया जाये कि फरियादियों की समस्या का समाधान यथासम्भव मौके पर ही कर दिया जाए। उन्होंने श्रावस्ती माडल के तहत भूमि विवाद के निस्तारण की समीक्षा के दौरान निर्देश दिया कि जिन गावों को विवादरहित घोषित किया गया है उनका एक बार पुनः परीक्षण करालें ताकि आगामी दिनों में शासन स्तर से होने वाली जांच के समय किसी असमंजस की स्थिति से बचा जा सके। मण्डलायुक्त ने कहा कि विवादों के निस्तारण में लेखपालों की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण होती है, इसलिये लेखपालों को लगातार गावों ंमें भ्रमणशील रखा जाए। उन्होंने कहा कि जिन लेखपालों के पास एक से अधिक गावॅ हैं उनका रोस्टर बनायें तथा जिस दिन जिस गांव में लेखपाल को जाना हैं उसकी पूरी जानकारी सम्बन्धित ग्राम वासियों को होना चाहिए। उन्होंने जननी सुरक्षा योजना के सम्बन्ध में तीनों जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन लाभार्थियों का भुगतान अभी नहीं हुआ है उनका तत्काल भुगतान सुनिश्चित करायें, जिन लाभार्थियों द्वारा औपचारिकतायें पूर्ण करने में रूचि नहीं दिखायी जा रही है उनकी धनराशि शासन को वापस भेज दी जाए। उन्होंने तीनों डीएम से कहा कि अधूरे निर्माण कार्यों में तेज़ी लाने हेतु सम्बन्धित विभागों को अपने स्तर से निर्देशित करें तथा उसकी गुणवत्ता की प्रतिशत्ता जांच भी करायें। मण्डलायुक्त श्री रंगाराव ने कहा कि जनपद बलिया एवं मऊ में जो गांव आर्सेनिक प्रभावित हैं वहंा शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करायें तथा आर्सेनिक प्रभावित जल पीने से होने वाली गम्भीर बिमारियों के बारे में लोगों को अवगत कराएं। उन्होंने निर्देश दिया कि जिन आर्सेनिक प्रभावित गावों ंमें पाईप्ड लाईन पेयजल की व्यवस्था है वहां सप्लाई किसी भी दशा में बाधित नहीं होनी चाहिए। जहंा पाईप बदलने के आवश्यकता हो ग्रामीणों को अवगत कराते हुए उसे तत्काल बदलें। इसी प्रकार ग्रामीण पेयजल के सम्बन्ध में उन्हों ने निर्देश दिया कि रिबोर योग्य हैण्डपम्पों का सर्वे कार्य अनिवार्य रूप से समय से पूर्ण कर जल निगम के सहायक अभियन्ता अथवा अवर अभियन्ता से उसका सत्यापन करालें तथा तत्पश्चात ही रिबोर करायें। मण्डलायुक्त ने खाद्य एवं रसद विभाग की समीक्षा के दौरान पाया कि आज़मगढ़ में 13 बलिार में 45 एवं मऊ 17 दुकानों का आवंटन होना शेष है। उन्होंने उपायुक्त खाद्य को निर्देशित करते हुए कहा कि तत्काल रिक्त दुकानों के आवंटन की कार्यवाही नियमानुसार पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जो दुकाने निलम्बित हो गयी हैं उन्हें निकट की दुकानों से सम्बद्ध किया जाये परन्तु यह ध्यान रखा जाये कि किसी भी कोटेदार के पास एक से अधिक सम्बद्ध दुकानें नहीं होनी चाहियें तथा यह भी सुनिश्चित किया जाये कि जिस गावॅ की दुकान सम्बद्ध है खाद्यान एवं मिट्टी का तेल सम्बन्धित गाॅव में ही बटना चाहिए। गेहूं क्रय की समीक्षा के दौरान अवगत कराया गया कि मण्डल में कुल 199 क्रय केन्द्र स्थापित हैं और सभी सक्रिय हैं, इस पर उन्होंने आरएफसी को निर्देशित किया कि क्रय केन्द्रों का लगातार निरीक्षण किया जाए तथा वहंा पर किसानों के बैठने एवं पेयजल की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित किया जाए। मण्डलायुक्त ने आगाह किया कि बारिश से किसी भी केन्द्र पर गेहंू भीगना नहीं चाहिए इसके लिये तिरपाल आदि की पहले से ही समुचित व्यवस्था कर ली जाए, यदि किसी क्रय केन्द्र पर गेहूं भीगने का प्रकरण संज्ञान में आता है तो सम्बन्धित के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। विद्युतिकरण के सम्बन्ध में पाया गया कि जनपद बलिया में गावों के विद्युतिकरण की स्थिति काफी खराब है इस पर मण्डलायुक्त ने नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए मुख्य अभियन्ता विद्युत को निर्देश दिया कि विद्युत कनेक्शन आवंटन हेतु प्रत्येक गावों में कैम्प लगवाया जाए तथा उसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए। बैठक में मण्डलायुक्त ने राजस्व वसूली, अवैध खनन, एण्टी भू माफिया, टीकाकरण आईसीडीएस, स्वच्छ भारत मिशन सहित अन्य बिन्दुओं की भी समीक्षा की तथा सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया।
इस अवसर पर जिलाधिकारी आज़मगढ़ शिवाकान्त द्विवेदी, ज़िलाधिकारी मऊ प्रकाश बिन्दु, ज़िलाधिकारी बलिया भवानी सिंह खगारौत, पुलिस अधीक्षक बलिया पर्णा गागंुली, अपर आयुक्त राजेन्द्र कुमार,संयुक्त विकास आयुक्त हरिश्चन्द्र वर्मा, जनपद मऊ एवं बलिया के मुख्य विकास अधिकारी क्रमशः आशुतोष कुमार द्विवेदी एवं बद्रीनरथ सिंह, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) आज़मगढ़ बीके गुप्ता, मुख्य राजस्व अधिकारी मऊ रामगोपाल सिंह, आरएफसी अरुण कुमार सिंह उप निदेशक अर्थ एवं सख्या राजाराम यादव, उप निदेशक पंचायत जयदेव त्रिपाठी, सहित सभी अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment