.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

पीड़ित का पहले इलाज करेें बाद में देखे पुलिस केस है या नही- सहायक परिवहन आयुक्त

आजमगढ़। सहायक परिवहन आयुक्त लखनऊ की अध्यक्षता में जिला अस्पताल के सभागार में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, उप मुख्य चिकित्साधिकारी एवं आईएमए के पदाधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न हुई। इस अवसर पर उन्होने समस्त प्राइवेट नर्सिंग होम/सरकारी अस्पताल के सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि यदि सड़क दुर्घटना से पीड़ित कोई रोगी अस्पताल में आता है तो उसका तत्काल इलाज करें, यह न देखें कि पुलिस केस है या नही। पहले इलाज करें तब पुलिस को सूचित करें। इसी क्रम में समस्त सरकारी अस्पताल/नर्सिंग होम के सम्बन्धित अधिकारियों से कहा कि अस्पताल के सामने साइन बोर्ड पर ट्रैफिक रूल्स लिख कर लगाना सुनिश्चित करें। जिससे अस्पताल में आने वाले रोगी ट्रैफिक रूल्स के नियमों के बारे में जानकारी प्राप्त करें, जिससे सड़क दुर्घटना में कमी आ सके। इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा.संजय गुप्ता,डा.परवेज अख्तर,आईएमए की सचीव डा. अर्चना मैसी,डा.निर्मल श्रीवास्तव तथा डा.डीपी राय उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment