.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़ : वेदांता हॉस्पिटल में फिर हुई मारपीट,मामला पंहुचा कोतवाली

आज़मगढ़ : नगर स्थित वेदांता हॉस्पिटल का एक और मामला सामने आया है। आरोप है कि अस्पताल के संचालक व न्यूरोसर्जन ने खुद, अपने भाईयों व निजी गार्डों के साथ मिल आईसीयू में भर्ती एक बुजुर्ग मरीज़ के पुत्र की पिटाई कर दी। पीड़ित का गुनाह इतना था कि वह आईसीयू में भर्ती अपने पिता की झलक देख कर ड्यूटी पर निकलना चाहता था। इसी पर बवाल हो गया। इसके बाद पीड़ित समेत भारी संख्या में लोग कोतवाली पहुँच गये और डॉक्टर समेत अन्य के खिलाफ तहरीर दी। वहीं मामले में डॉक्टर ने आरोप को सरासर झूठ बताते हुए कहा कि मारपीट नहीं हुई है। जबकि पुलिस मामले की जांच कर रही है। कोतवाली पहुंचे ज्यादातर लोगों का कहना है कि आये दिन इस अस्पताल में ऐसी घटना होती रहती है लेकिन इन पर कोई लगाम नहीं है। प्राप्त जानकारी के अनुसार महराजगंज थाना के बृजमनी बुजुर्ग गाँव के निवासी रमाकांत तिवारी की हालत खराब होने पर एक हफ्ता पूर्व उन्हें इस अस्ताल में भर्ती कराया गया था। रमाकांत के पुत्र अमित तिवारी के अनुसार वह जब आईसीयू के बाहर से अपने पिता को देख रहा था तो गार्ड ने थप्पड़ मार कर उसे गिरा दिया। वहाँ से वह किसी तरह बाहर आया तो हॉस्पिटल के संचालक व न्यूरोसर्जन डॉ शिशिर जायसवाल ने फिर वापस अपने केबिन में बुलाया। इसके बाद डॉक्टर समेत 8 अन्य लोगों ने उसकी पिटाई की। ीडित ने किसी तरह अपने को छुड़ा कर बाहर भाग कर जान बचाई। बताया की अस्पताल  खर्च का 43 हज़ार रुपया कल ही जमा कर दिया था। फिर एक दिन का दस हज़ार का बिल दे दिया और रेफर कर दिया गया। सूचना के बाद स्थानीय पुलिस गयी लेकिन मारपीट व असली घटना का जब सीसीटीवी फुटेज दिखाने को कहा गया तो तरह तरह का बहाना कर नहीं दिखाया गया  वहीं दूसरी तरफ डॉ शिशिर जायसवाल का कहना है कि उन्होंने कोई मारपीट नहीं की। जबरन आईसीयू में युवक घुसने की कोशिश कर रहा था। बुजुर्ग गार्ड ने रोकने की कोशिश की तो धक्का मुक्की करने लगा। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment