.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

नयी सरकार के पहले तहसील दिवस पर मौजूद रहे आला अधिकारी ,दिए सख्त निर्देश

आजमगढ़.: कभी सपा का गढ़ कहे जाने वाले और मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में नई सरकार बनने के बाद मंगलवार को पहला तहसील दिवस हुआ। इस पर सीएम योगी आदित्यनाथ का असर साफ दिखा। समस्याएं सुनने के लिये खुद कमिश्नर नीलम अहलावत, जिलाधिकारी सुभाष एलवाई और एसपी आकाश कुलकर्णी मौजूद रहे। इस दौरान अधिकारियों को आलाधिकारियों ने नई सरकार की प्राथमिकताएं और आदेश साफ बता दिया। यह भी चेतावनी दी कि इस बार यदि पहले की तरह हीला-हवाली या फिर लापरवाही हुई तो बचना नामुमकिन होगा। मंगलवार को कमिश्नर समेत आलाधिकारी आजमगढ़ के बूढ़नपुर में विशेष तहसील दिवस में मौजूद थे। इस दौरान अहरौला, कप्तानगंज, अतरौलिया, अहरौला, कोयलसा आदि इलाकों के 15 शिकायती प्रार्थना पत्र पिछले तहसील दिवस के लम्बित रहने पर खरी-खोअी सुनायी। कमिश्नर नीलम अहलावत ने कहा कि नई सरकार का यह पहला तहसील दिवस है। सरकार की मंशा के अनुरूप भ्रष्टाचार मुक्त समाज बनाना और सबको न्याय देने की दिशा में कार्य करना होगा। डीआईजी उदय शंकर जायसवाल कहा कि पुलिस बिना भेदभाव के कार्यवाही करे। आम जनता से व्यवहार को ठीक करने की हिदायत दी। इसके अलाव तहसील दिवस पर मिली शिकायतों के आधार पर जांच कर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई जरूर करें। उन्होने कहा कि डायल 100 और 1090 के माध्यम से यदि कहीं भी महिलाओं के साथ छेड़खानी की सूचना मिलती है तो कार्रवाई में जरा भी देरी नहीं की जानी चाहिये। इसके अलावा शहर में चल रहे बूचड़खानों को लेकर भी हिदायत दी। कहा कि यदि अवैध बूचड़खाने चल रहे हैं तो उस पर तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिये। अवैध बूचड़खानों को हर हाल में बंद कराना ही होगा। इस दौरान कई अधिकारियों को फटकारा गया तो कई कर्मचरियों पर कार्रवाई भी हुई। तहसील दिवस पर कुल 48 शिकायती प्रार्थना पत्र प्रस्तुत हुए जिनमें से महज तीन का ही निस्तारण किया जा सका।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment