.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

क्लीनीकल इस्टैबलिशमेंट एक्ट: आईएमए ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

सीईए नोटीफिकेशन वापसी की माँग की
आजमगढ़। इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन की शनिवार को स्थानीय मिशन अस्पताल हरवंशपुर में जिलाध्यक्ष डॉ. निर्मल श्रीवास्तव की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई बैठक में प्रदेश सरकार द्वारा 11 जुलाई के जारी क्लीनीकल इस्टैबलिशमेंट एक्ट के नोटीफिकेशन को वापस लेने की माँग की गयी। जिलाध्यक्ष डॉ. निर्मल ने बताया कि इस एक्ट से चिकित्सा के क्षेत्र में सेवा कर रहे लोगों पर संकट खड़े  हो जायेगे और ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा केन्द्र व्यापक रूप से प्रभावित होंगे और लोगों को फौरी इलाज नहीं मिल पायेगा। उन्होंने कहा कि एक चिकित्सक द्वारा चलाए जा रहे क्लीनिकों व अस्पतालों को इस एक्ट से बाहर रखा जाय। प्रत्येक चिकित्सालय में डिप्लोमाधारी पैरामेडिकल स्टाफ की अनिवार्यता समाप्त की जाय, हास्पिटल के रजिस्टेÑशन व बाध्यकारी अनुमति के सभी  अनुज्ञापन लाइसेंस एकल खिड़की से दिया जाय, सरकार द्वारा इलाज के लिए गाइड लाइन न दिया जाय साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में अस्पताल संचालित करने हेतु इंसेन्टिव दिया जाय। बाद में मुख्यमंत्री को सम्बोधित माँगों का ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया। इस मौके पर अध्यक्ष डॉ. निर्मल श्रीवास्तव, सचिव डॉ. अशोक सिंह सहित डॉ. स्वाती सिंह, डॉ. अमित सिंह, डॉ. दीपक शाहा, डॉ. एलजे यादव, डॉ. विनय चौहान, डॉ. एके सिंह, डॉ. मानव, डॉ. मनीष राय, डॉ. रामजी सिंह, डॉ. बीएस सिंह, नीमा अध्यक्ष, डॉ. नेहा सिंह, अर्चना मैसी, डॉ. विपिन यादव, डॉ. मधुलिका त्यागी, डॉ. हेमबाला यादव, डॉ. जोरार अहमद, डॉ. समीर अग्रवाल, डॉ. श्रवण यादव, डॉ. जय प्रकाश श्रीवास्तव, डॉ. पंकज राय, डॉ. उदय•ाान आदि चिकित्सक उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment