.

.

.

.
.

आजमगढ़: राजपूत करणी सेना व क्षत्रिय समाज ने राजस्थान के पूर्व सीएम का पुतला फूंका


सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या से आक्रोशित लोगों ने राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा

आजमगढ़: सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या से आक्रोशित श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना व क्षत्रिय समाज ने राष्ट्रपति को संबोधित तीन सूत्री मांग पत्र डीएम को सौंपकर दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही किए जाने की मांग करते हुए कलेक्ट्रेट चौराहे पर राजस्थान के पूर्व सीएम का प्रतिकात्मक पुतला फूंका गया। इसके पूर्व में कुंवर सिंह उद्यान में एक शोकसभा का आयोजन हुआ, जिसमे सर्वसमाज के लोगों ने उपस्थित होकर गोगामेड़ी को अपनी श्रद्धाजंलि अर्पित कर न्याय मिलने तक संघर्ष जारी रखने का संकल्प लिया। इस मौके पर अखिल भारतीय क्षत्रीय महासभा के जिलाध्यक्ष दिनेश सिंह ने कहाकि श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की जयपुर में गोली मारकर हुई हत्या से समूचा समाज स्तब्ध और आक्रोशित है। क्षत्रिय समाज के लोगों को आगे आकर तय सीमा के अंदर सीबीआई जांच कराकर हमलावरों के साथ-साथ हमला के पीछे छिपे असल चेहरो को उजागर कर कड़ी से कड़ी कार्यवाही किया जाना चाहिए। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्या के चार दिन बाद भी आज तक हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी, जिससे सर्वसमाज का आक्रोश बढ़ता चला जा रहा हैं। कार्यवाही नहीं हुई तो संगठन मुखर होने को बाध्य होगा।

सुभासपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष शशिप्रकाश सिंह मुन्ना ने घटना की निन्दा करते हुए कहाकि दिनदहाड़े हमलावरों द्वारा बरसाई गई गोलियो सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के ऊपर नहीं बल्कि क्षत्रिय समाज पर दागी गई है। जिसे क्षत्रिय समाज कभी बर्दाश्त नहीं करेगा।
समाज के प्रति आभार प्रकट करते हुए करणी सेना जिलाध्यक्ष उपेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया हमारी मांगों में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्व. सुखदेव सिंह गोगामेड़ी जी के हत्याकांड की तयसमय सीमा के अदंर उच्चस्तरीय एजेंसी/सीबीआई से न्यायिक जांच हो, हत्यारों की तीन दिन के अंदर गिरफ्तारी सुनिश्चित कराई जाए और दोषियों को सख्त से सख्त सजा दी जाए, सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के परिजनों को कम से कम 10 करोड़ रूपए की आर्थिक सहायता देते हुए परिजनों के जानमाल की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए।
अजय सिंह, श्रीकृष्ण ने कहाकि भारत के गौरवशाली इतिहास को सुरक्षित रखने के लिए निडर होकर गोगामेडी ने लगातार उठाई है। इतिहास उनके संघर्ष को हमेशा याद रखेंगा।
इस अवसर पर पवन सिंह, धीरज सिंह, शिवम सिंह, पवन सिंह, अश्वनी सिंह, एमपी सिंह बिट्टू, आशीष, उत्तम सिंह, अंकित सिंह, बंटू सिंह, संजय सिंह, संदीप सिंह, हर्षित सिंह, सच्चा सिंह, जंगबहादुर सिंह, आलोक सिंह लहरी, रिंकू सिंह, चंदन सिंह आदि मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment