.

.

.

.
.

आजमगढ़: जीडी ग्लोबल में विविध-विज्ञान प्रदर्शनी स्पेक्ट्रम-3 का हुआ आयोजन



बच्चों के बनाए अत्याधुनिक वैज्ञानिक मॉडल की सांसद निरहुआ ने की प्रशंसा

आजमगढ़: जीडी ग्लोबल स्कूल करतालपुर में ज्ञान-विज्ञान, कला और सामाजिक विज्ञान पर आधारित प्रदर्शनी स्पेक्ट्रम -3 का आयोजन बहुत ही भव्यपूर्वक किया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ मुख्य अतिथि आजमगढ़ के सांसद दिनेश लाल यादव निरहुआ, विशिष्ट अतिथि लेफ्टिनेंट कर्नल डॉ विपिन शर्मा (अवकाश प्राप्त आर्म्ड फोर्स मेडिकल कालेज पुणे) ने विद्यालय के प्रबंधक गौरव अग्रवाल, निदेशिका स्वाति अग्रवाल, प्रधानाचार्या मोनिका सारस्वत पाण्डेय के साथ दीप प्रज्वलन से किया। दीप प्रज्वलन के पश्चात मां सरस्वती की वंदना एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से विद्यालय के छात्र/ छात्राओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया।प्रदर्शनी में जहां भौतिकी से संबंधित ड्रोन कैमरा, चंद्रयान, मिशाइल,कैनन, लाई-फाई,टेस्ला क्वायल, होलोग्राम तथा ब्लूटूथ कंट्रोल, वाकिंग रोबोट आदि का जीवंत प्रदर्शन किया गया है । वहीं वाटर डिस्टेलेशन, वेस्ट वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, वालकेनो, रिनोबेल इनर्जी, कार्बाइड कैनन, हर्ट सर्कुलेटिंग सिस्टम, श्वसन तंत्र, न्यूरान,बेन, हीमोडायलिसिस, डीएनए मॉडल आदि पर बच्चों ने विभिन्न आकर्षक मॉडल प्रस्तुत किये। समाजिक व्यवस्था को प्रदर्शित करने के अंतर्गत राममंदिर मॉडल, पावरहाउस, सौरमंडल, नवीन सांसद भवन, अद्यतन गॉव, हड़प्पा सभ्यता, लोकतंत्र प्रणाली के प्रति लोगों को आकर्षित करने हेतु ईवीएम मशीन आदि पर सुंदर मॉडल प्रस्तुत किये गये। देश की आर्थिक व्यवस्था के प्रति लोगों का ध्यान आकृष्ट करने हेतु वाणिज्य के छात्र-छात्राओं ने जीएसटी मॉडल,स्पेशल इकोनॉमिक जोन, बैंकिंग मॉडल, वेंडिंग मशीन, मॉडल इन इंश्योरेंस आदि पर आधारित प्रेरणादायक मॉडल प्रस्तुत किये।
मुख्य अतिथि दिनेश लाल यादव ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चे ही देश के भविष्य होते हैं। आप सब राष्ट्र के भावी कर्णधार हैं। इसलिए आपको राष्ट्रहित को ध्यान रखते हुए अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का ईमानदारी के साथ निर्वहन करना चाहिए। विद्यालय की निदेशिका श्रीमती स्वाति अग्रवाल ने बच्चों के इस कौशल की भूरि भूरि प्रशंसा की और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। प्रबंधक गौरव अग्रवाल ने कहा कि प्रदर्शनी एक ऐसा मंच होता है जहाँ विज्ञान के विभिन्न विषयों से जुड़े उत्पादों, तकनीकों, अनुप्रयोगों, आविष्कारों और अन्य विषयों को प्रदर्शित किया जाता है। इसमें विभिन्न विषयों से जुड़े उत्पादों और तकनीकों के द्वारा लोगों को विज्ञान के बारे में जानकारी मिलती है। बच्चों को इसी प्रकार अपनी प्रतिभा और कौशल से समाज को लाभान्वित करना चाहिए। प्रधानाचार्या श्रीमती मोनिका सारस्वत पाण्डेय ने अपने उद्बोधन में कहा कि प्रदर्शनी से बच्चों में राष्ट्र की प्रगति के प्रति अपने कर्तव्य तथा समस्त जीव-कल्याण की भावना का बोध होता है। विद्यालय बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए कटिबद्ध है। समय समय पर हम अपने बच्चों की प्रतिभा को निखारने और समाज में प्रदर्शित करने के माध्यम से पाठ्येतर क्रियाएं आयोजित करते हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment