.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: विडियो:युवती की नृशंस हत्या का मुख्य आरोपी मुठभेड़ में घायल, एसपी ने बताई सारी कहानी...




टुकड़ों में मिली लाश का सिर पुलिस ने बरामद कर किया हत्याकांड का पर्दाफाश

दूसरी जगह शादी करने से नाराज हो लिया था बदला,08 अन्य की तलाश में पुलिस टीमें

आजमगढ़: अहरौला थाना के गाैरी का पुरा गांव में युवती की नृशंस हत्या कर शव कुएं में फेंकने की गुत्थी को पुलिस ने पांच दिनों बाद सुलझा लिया है। घटना में शामिल आरोपित प्रिंस यादव निवासी कठही बसकी को पश्चिम पट्टी गांव में एक मुठभेड़ में गिरफ्तार किया है। साथ ही युवती के सिर का हिस्सा कप्तानगंज के जजऊपुर स्थित पोखरी से बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।15 नवंबर को गौरी का पुरा गांव स्थित एक कुएं से युवती के सिर कटी व कई टुकड़ों में शव मिले थे। युवती के शरीर पर कोई वस्त्र नहीं थे। इसलिए हत्यारों तक पहुंचाना पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई थी। शुक्रवार को इसहाकपुर गांव निवासी केदार प्रजापति अपने पुत्र सुनील प्रजापति के साथ थाने पर पहुंचे और युवती के शव के फोटो ग्राफ आदि देख कर उसकी पहचान अपनी विवाहित पुत्री आराधना (22) के रूप में की थी। उसके हाथ का कंगन को उसके भाई ने पहचान लिया था।
बताया था कि नौ नवंबर को प्रिंस यादव अपनी बाइक पर बैठा कर उसे ले गया था। आरोपित युवक की बहन से दोस्ती थी। परिवार में दोनों का आना-जाना भी था। पुलिस मुख्य आरोपित प्रिंस समेत चार लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ में जुट गई।
पुलिस ने उसकी निशानदेही पर कप्तानगंज थाना के जजऊपुर गांव स्थित सरकारी पोखरी से मृतका के सिर उसके दुपट्टा में लिपटा बरामद किया। रविवार को पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त धारदार हथियार व लकड़ी को गोला बरामद करने के लिए पूर्वांचल एक्सप्रेस के सर्विस लेन के पास एक गन्ने की खेत में गई थी।
वहीं, पहले से आरोपित द्वारा छुपा कर रखा तमंचा उठाकर फायर करते हुए भागने लगा। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली उसके दाएं पैर में लगी। उसके तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अहरौला पर ले जाया गया, जहां से चिकित्सक ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। एसओ याेगेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि हत्या में प्रयुक्त हथियार को बरामद करने के लिए प्रिंस यादव को लेकर गई थी। जहां व पहले से छुपा कर रखे तमंचे से पुलिस पर लगातार चार फायर झोंक भागने लगा। पुलिस की आत्मरक्षार्थ फायरिंग मेंं गोली उसकी पैर लग गई। अभी वह जिला अस्पताल में है। पूरे घटनाक्रम का विस्तार से खुलासा करते हुए एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि 15.11.2022 को सूचना मिली की पश्चिम पट्टी गौरी का पुरा रोड के किनारे कुए मे एक युवती की लाश क्षत विक्षत पडी है ।शव को कुए से निकाल कर थाना अहरौला पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया । शव से सिर गायब था व हाथ पैर अलग – अलग थे। अपराध को गम्भीरता से लेते हुए अनावरण हेतु 05 टीमो का गठन कर जिम्मेदारी तय की गयी ।जिसकी प्रतिदिन समीक्षा स्वयं पुलिस अधीक्षक द्वारा की जा रही थी।विवेचना के दौरान सुचना प्राप्त हुई कि केदार प्रजापति पुत्र स्व0 चिखुरी प्रजापति की 22 वर्षिय विवाहिता लडकी दिनांक 10.11.2022 से गायब है जिसका हुलिया बरामद अज्ञात शव से मेल खाता है। इस सुचना को गम्भीरता से लेते हुए । थाना प्रभारी अहरौला व स्वाट/सर्विलांस टीम को मौके पर जाकर फोटो आदि पहचानने व जानकारी हासिल करने हेतु निर्देशित किया गया। केदार प्रजापति व उनके घर वाले शव के शरीर पर पडे शव के हाथ मे रक्षा व काला धागा, कंगन, नेलपालिश देखकर आंशिक रुप से पहचान किये परन्तु चेहरा न होने के कारण आश्वस्त नही हुए मोबाइल नं0 के सीडीआर विश्लेषण के बाद पुलिस टीम को शक हुआ कि यह डेड बाडी उपरोक्त युवती के होने की प्रबल सम्भावना है ।इसी क्रम मे गायब लडकी के प्रेमी की तलाश की गयी तो उसका मो0 नं0 बन्द था । दिनांक 19.11.2022 को समय 20.00 बजे थाना प्रभारी अहरौला ,सर्विलांस व स्वाट की संयुक्त टीम द्वारा अभियुक्त प्रिस यादव पुत्र राजाराम यादव निवासी कठही थाना अहरौला को गजही पुलिया से गिरफ्तार किया गया ।
गिरफ्तार अभियुक्त प्रिंस यादव से पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि गांव इसहाकपुर के केदार प्रजापति की लड़की आराधना से करीब दो साल से प्रिंस यादव का प्रेम संबंध था । प्रिस यादव का मृतका के घर पर आना जाना शुरु हो गया आराधना नें शादी का वादा किया था इस बात को दोनों के घर वाले जानते थे इसी बीच फरवरी 2022 मे आराधना की शादी किसी अन्य व्यक्ती से सम्पन्न हो गयी।आराधना की शादी के समय प्रिंस यादव शारजांह मे मेकैनिक की नौकरी कर रहा था। शादी की जानकारी होने पर प्रिंस यादव वापस अपने घर आ गया । अभियुक्त के माता पिता नें कहा कि आराधना से जाकर बात कर लो अगर वह साथ में रहनें को मान जाती है तो ठीक है नहीं तो उसे रास्ते से ही हटा दो नही तो जिन्दगी भर हमे और तुम्हे परेशान करेगी। आराधना से बात करने पर उसने इनकार कर दिया इस बात को प्रिंस यादव ने अपनें माता पिता से बताया तब माता पिता नें कहा कि उसे किसी तरह से अपनें रास्ते से हटा दो। इस पर योजना के तहत पास पडोस वालों को जयपुर जाने की बात बताकर प्रिंस यादव दिनांक 29.10.2022 को आजमगढ़ रेलवे स्टेशन पर आया और दो दिन वहाँ रुका रहा ताकी गाँव के लोगो को यह यकीन हो जाये कि प्रिंस जयपुर चला गया है। फिर वहाँ से अपनें मामा रामा यादव निवासी असरफपुर थाना कप्तानगंज के घर आया और अपनें मामा के लड़के सर्वेश यादव व बहू सुमन पत्नी बृजेश यादव से उपरोक्त बात बताई तो सर्वेश यादव व सुमन नें भी आराधना को रास्ते से हटानें की बात कही। पुछताछ मे प्रिंस ने बताया कि सुमन से भी प्रिंस के शारीरिक सम्बन्ध काफी समय से थे जिस कारण सुमन भी मृतका से इर्श्या रखने लगी थी और मृतका को मारने के लिये प्रिंस का साथ देने को तैयार थी । प्रिंस यादव ने वहीं पर अपनें माता पिता को भी बुलवा लिया और सबने मिलकर हत्या की योजना बनाई।
योजना के तहत अभियुक्त प्रिंस यादव व उसके मामा का लड़का सर्वेश नारियल काटनें वाला बाँका तथा एक पालीथीन मोटरसाईकिल की डिग्गी में रख लिया। घटना मे जिस मोटर साइकिल का प्रयोग किया गया है। वह सुमन के पिता ने शादी मे सर्वेश के परिवार को दी थी ।
दिनांक 10.11.2022 को प्रिंस यादव व सर्वेश यादव ने मोटरसाईकिल से इसहाकपुर पुलिया पर पहुचकर मोबाईल से बात करके आराधना को गाँव से बाहर बुलाया और दोनो लोग भैरोनाथ मंदिर घूमनें के बहानें आराधना को लेकर निजामपुर एक रेस्टोरेण्ट में ले गये और वहाँ खाना पीना खाया। योजना के अनुसार आराधना को सर्वेश के घर घूमने कि लिए मनाकर ले जाते समय ग्राम जजऊपुर के पास एक गन्ने के खेत के पास मोटरसाईकिल रोककर अभियुक्त प्रिंस यादव तथा सर्वेश ने आराधना को खींचकर गन्ने के खेत में ले जाकर गला दबाकर हत्या कर दिया एक लकड़ी का ठीहा लेकर उस पर आराधना का दोनों हाँथ तथा दोनो पैर व गर्दन नारियल काटनें वाले बाँका से काट दिया तथा सिर व लकड़ी के ठीहा को वहीँ बगल में तालाब में फेंक दिया धड़-पैर व हाँथ को पालीथीन में भरकर व पैंण्ट, बाँका को मोटरसाईकिल की डिग्गी में रखकर धड पैर व हाँथ को ग्राम पश्चिमपट्टी के बाहर पक्की सड़क के पास एक कुएं में डाल दिया था
हत्या में प्रयुक्त बाँका व जींस पैण्ट कुँये के पास ही गन्नें के खेत में फेंक दिया था तथा अपनें कपड़े जिसमें खून लगा था उसे जलाकर नहर में फेंक दिया था ।घटना के बाद अभियुक्त और सर्वेश घर गये जहा अपनें मामा रामा यादव तथा मामी शीला यादव से घटना के बारे में बताया तो मामा व मामी नें दोनों को दो दिन तक अपनें घर में छिपाये रखा फिर दोनों वहाँ से ग्राम तोंवाँ मामी कमलावती पत्नी संतराज के घर गये और उनसे भी घटना के बारे में बताया और वहाँ से दोंनों भागकर अपनें घर कठहीं आये और सारी बात माता पिता व बहन मन्जू यादव से भी बताया और रात भर छिपे रहे। एक दिन अपनें घर में रहेने बाद सर्वेश प्रिंस के घर से चला गया। शनिवार को पुलिस ने इशहकपुर अभियुक्त की निशानदेही पर घटनास्थल तालाब से मृतका का कटा हुआ सिर व एक लकडी का बोटा, गन्नें के खेत के पास एक मास्क बरामद करने के दौरान अभियुक्त द्वारा पूर्व में फेके गये 315 बोर के तमन्चे को उठाकर पुलिस टीम पर अन्धाधुंध फायर किया गया जवाबी कार्यवाही मे अभियुक्त के दाहिने पैर में गोली लगी जिससे अभियुक्त प्रिंस यादव घायल हो गया जिसको समय करीब 14:32 बजे गिरफ्तार कर लिया गया । चिकित्सकीय उपचार हेतु सदर अस्पताल भेजा गया । एसपी ने बताया कि इस जघन्य हत्या कांड में प्रकाश में आये अभियुक्तों में सर्वेश यादव पुत्र रामा यादव निवासी असरफपुर थाना कप्तानगंज (प्रिंस के मामा का लडका) प्रमिला यादव पत्नी राजाराम निवासी कठही थाना अहरौला (प्रिंस की मां),सुमन पत्नी बृजेश यादव निवासी असरफपुर थाना कप्तानगंज (प्रिंस के मामा के लडके बृजेश की पत्नी), राजाराम पुत्र स्व0 जंगबहादुर निवासी कठही थाना अहरौला (प्रिंस का पिता), रामा यादव पुत्र हरिराम यादव निवासी असरफपुर थाना कप्तानगंज (प्रिंस का मामा), कमलावती पत्नी संतराज यादव निवासी असरफपुर थाना कप्तानगंज (प्रिंस की मामी), मन्जू यादव पुत्री राजाराम निवासी कठही थाना अहरौला (प्रिंस की बहन) तथा शीला यादव पत्नी रामा यादव निवासी असरफपुर थाना कप्तानगंज (प्रिंस की मामी) की तलाश जारी है। इनमें सर्वेश यादव पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया है।
साथ ही पुलिस कप्तान ने घटना के अनावरण करने वाली पुलिस टीम को 25000/- रु0 से पुरस्कृत किया, वहीं थाना अहरौला के आरक्षी चालक राजेश वर्मा को उच्च कोटी के सुरागरसी/पतारसी के लिये 5000/- रु0 से पुरस्कृत किया
तथा सर्विलांस टीम को भी 5000/- रु से पुरस्कृत किया गया ।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment