.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: डीएम के प्रयास से जिले को मिली 2600 मीट्रिक टन फास्फेटिक उर्वरक


रैक पॉइंट से सीधे समितियों को उर्वरक उपलब्ध कराया जाए - डीएम

उर्वरक क्रय करने के लिए आधार कार्ड एवं खतौनी दोनों अनिवार्य है

आजमगढ़ 21 नवम्बर-- जिलाधिकारी के अथक प्रयास एवं परिश्रम से उत्तर प्रदेश शासन द्वारा जनपद आजमगढ़ को डीएपी एवं अमोनियम फास्फेट सल्फेट दोनों फास्फेटिक उर्वरकों की 2600 मैट्रिक टन की रैक जनपद को उपलब्ध कराई गई है। जिला कृषि अधिकारी श्री गगनदीप सिंह ने बताया है कि वर्तमान समय में धान की कटाई लगभग समाप्ति की ओर है, साथ ही गेहूं की बुवाई बहुत तेज गति से हो रही है। गेहूं की बुवाई के लिए किसान डीएपी एवं फास्फेटिक उर्वरकों का प्रयोग करते हैं। इसलिए गेहूं की बुवाई के समय डीएपी एवं फास्फेटिक उर्वरक की आवश्यकता अधिक होती है। किसानों की आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी श्विशाल भारद्वाज द्वारा व्यक्तिगत प्रयास करते हुए जनपद आजमगढ़ को 2600 मैट्रिक टन फास्फेटिक उर्वरक की रैक उपलब्ध कराई गई है। साथ ही जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया है कि जनपद के रैक पॉइंट से सीधे समितियों को उर्वरक उपलब्ध कराया जाए, जिससे कि किसानों को तत्काल डीएपी उर्वरक उपलब्ध हो सके।
जिलाधिकारी द्वारा सूचित किया गया है कि उर्वरक क्रय करने के लिए आधार कार्ड एवं खतौनी दोनों प्रपत्र अनिवार्य है। किसान उर्वरक पीओएस (पोस) मशीन से ही क्रय करें। यदि किसी किसान को किसी प्रकार की कठिनाई होती है तो जिला कृषि अधिकारी के मोबाइल नंबर 7839882455/9450753720/9453072429 पर संपर्क कर अपनी कठिनाइयों का समाधान करा सकते हैं। जिलाधिकारी आजमगढ़ द्वारा सुझाव दिया गया है कि किसान एडवांस में डीएपी खरीद कर न रखें। जिलाधिकारी द्वारा अश्वासन दिया गया है कि जनपद में डीएपी की आपूर्ति लगातार एवं अनवरत होती रहेगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment