.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ: बाढ़ से हुई क्षति का 48 घंटे के अंदर सर्वे कर रिपोर्ट दें - डीएम


डीएम ने बाढ़ प्रभावित गांवों के प्रधानों, लेखपालों संग बैठक कर दिए विभागों को निर्देश

आजमगढ़ 20 अक्टूबर-- जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज की अध्यक्षता में तहसील सगड़ी में बाढ़ प्रभावित प्रधानों, लेखपालों के साथ बैठक की गई। बैठक में लोगां ने फसलों, घर गिरने, कटान, और सभी गाँव मे घर एवं विद्यालयों की पटाई की मांग करते हुए ऊंचा करने की मांग की गयी। जिसपर जिलाधिकारी ने राजस्व विभाग, स्वास्थ्य, पशुपालन विभाग, पीडब्ल्यूडी, बिजली विभाग, कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि दवाओं की उपलब्धता और पुल, सड़क, स्कूल आदि के मरम्मत कराना सुनिश्चित करें। उन्होने उप जिलाधिकारी सगड़ी को निर्देशित किया कि जितने भी सीएचसी/पीएचसी सेंटर हैं, उन पर जांच कर लें कि सांप काटने के इंजेक्शन व दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं अथवा नहीं।
इस दौरान जिलाधिकारी ने राजस्व विभाग की ज्वाइंट टीम लगाकर 48 घंटे के अंदर बाढ़ से हुए नुकसान का सर्वे कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डॉ0 धर्मेंद्र कुमार पांडेय को निर्देशित करते हुए कहा कि बाढ़ क्षेत्र में जो भूसा की कमी हुई है, उसको उपलब्ध कराएं एवं तेजी से गांव में टीम लगाकर टीकाकरण कराएं एवं पशुओं का बीमा कराते हुए उन्हें राहत प्रदान करें। उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिया कि गांव में दवाओं आदि का छिड़काव कराते हुए दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करें एवं पीडब्ल्यूडी और बिजली विभाग के अधिकारी गांव में जाकर पेट्रोलिंग करते हुए सर्वेक्षण करें कि जो भी क्षति या सड़कें, पुल आदि कमजोर हुए हैं, उनका आकलन करते हुए उसको ठीक कराएं।
उन्होंने गांव में ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के द्वारा एएनएम और प्रधान के संयुक्त खाते के द्वारा गांव में दवाओं आदि का छिड़काव करने के भी निर्देश दिए और डीपीआरओ को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि गांव मे अधिक से अधिक सफाई कर्मियों को दवाओं एवं ब्लिचिंग पाउडर का छिड़काव कराते हुए लोगों को जागरूक करें कि प्रत्येक घर तक क्लोरीन की गोली, उबले हुए पानी भी पिएं, जिससे की बीमारियों को रोका जा सके।
जिलाधिकारी ने बांध को चौड़ीकरण करने के लिए बीडीओ महाराजगंज, हरैया, अजमतगढ़ को निर्देशित किया कि आप लोग मनरेगा के द्वारा एक प्रस्ताव बनाकर भेजें, जिससे कि बांध का चौड़ीकरण कराया जा सके।
अधिशासी अभियंता बाढ़ खंड श्री दिलीप कुमार ने बताया कि बांध का चौड़ीकरण किया जाना अति आवश्यक है एवं सहनूपुर और जोकहरा बांध को बोल्डर पीचिंग कराए जाने की आवश्यकता है, साथ ही साथ महुला से दोहरीघाट तक बंधा कच्चा है, जिसको ऊंचा किया जा सकता है, पर महुला से महाराजगंज तक बांध पर सड़क होने के कारण उसे ऊंचा नहीं कराया जा सकता। जिलाधिकारी ने कहा कि गांव के अंदर जो आबादी बसी है, उसको मनरेगा के द्वारा ग्राम प्रधान रिंग बांध बनाकर आबादी को सुरक्षित करें, जिससे कि गांव में पानी ना जाए और गांव को मनरेगा के द्वारा ही ऊंचा किया जाए। उन्होंने सभी को निर्देशित किया कि यदि कोई समस्या हो तो कंट्रोल रूम पर 9454417172 पर सूचना दें, जिससे कि तत्काल उस पर कार्य किया जा सके। उन्होंने सभी लोगों को राहत पैकेज देने की लिए निर्देशित किया और बताया कि 10000 व्यक्तियों का राहत पैकेट बाढ़ क्षेत्र में पहुंच चुका है, जिसमें 6000 बांटे जा चुके हैं।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्री आनंद कुमार शुक्ला, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 आईएन तिवारी, उप जिलाधिकारी सगड़ी श्री राजीव रतन सिंह, तहसीलदार सगड़ी श्री शक्ति प्रताप सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ0 धर्मेंद्र कुमार पांडेय, जिला कृषि अधिकारी, पंचायती राज अधिकारी, अधिशासी अभियंता, बिजली, सहायक अभियंता, खंड विकास अधिकारी श्री ओमप्रकाश सिंह सहित संबंधित अधिकारी एवं समस्त गांव के ग्राम प्रधान व संबंधित लेखपाल, राजस्व निरीक्षक उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment